पहली से बारहवीं तक के छात्रों के काम की खबर, ऑनलाइन पढ़ाई के साथ अब...

पहली से बारहवीं तक के छात्रों के काम की खबर, ऑनलाइन पढ़ाई के साथ अब...
सिलेबस पूरा करने की कोशिशों में जुटा मध्य प्रदेश बोर्ड.

कोरोना वायरस (Coronavirus) के चलते देशभर में लागू किए गए लॉकडाउन (Lockdown) की वजह से स्कूल (School) करीब 40 दिनों से बंद हैं.

  • Share this:
भोपाल. कोरोना वायरस (Coronavirus) की वजह से लागू किए गए लॉकडाउन (Lockdown) में भले ही 40 दिनों से स्कूल पूरी तरह से बंद है. मध्य प्रदेश स्कूल शिक्षा विभाग हर दिन छात्र-छात्राओं की ऑनलाइन क्लास (Online Class) लेकर सिलेबस पूरा करने में जुटा है. वहीं स्कूल शिक्षा विभाग प्रदेशभर के छात्र-छात्राओं की पढ़ाई के लिए अब एक और कदम बढ़ाने जा रहा है. ऑनलाइन क्लासेस के साथ-साथ अब स्कूली छात्र-छात्राएं "शैक्षिक टीवी कार्यक्रम क्लासरूम" के जरिए अपनी पढ़ाई कर सकेंगे.

11 मई से शैक्षिक टीवी कार्यक्रम क्लासरूम
सरकारी स्कूलों के छात्र-छात्राओं के लिए स्कूल शिक्षा विभाग ने दूरदर्शन पर एक नए कार्यक्रम की शुरुआत की है. शैक्षिक टीवी कार्यक्रम के जरिए छात्र-छात्राएं अब टीवी के जरिए अपनी पढ़ाई कर सकेंगे. 11 मई से 10 जून तक चलने वाले कार्यक्रम का हर रोज दूरदर्शन पर प्रसारण होगा. छात्र-छात्राओं की हर दिन 3 घंटे पढ़ाई करवाने का खाका तैयार किया गया है. सातों दिन चलने वाले इस इस कार्यक्रम में छात्र-छात्राओं के लिए सुबह और शाम टीवी पर क्लासेस के जरिए पढ़ाई करवाई जाएगी.

पहली से बारहवीं तक के छात्र-छात्राओं की होगी पढ़ाई
स्कूल शिक्षा विभाग ने पहली से लेकर 12वीं तक के छात्र-छात्राओं की पढ़ाई के लिए अलग-अलग समय निर्धारित किया है. सुबह 10:30 से 11 बजे तक पहली से पांचवी कक्षा की क्लासेस होंगी. 11 से 12 बजे तक 6th से लेकर 11वीं तक के छात्र-छात्राओं के लिए क्लासेस लगेगी. दोपहर 12 से 01 बजे तक कक्षा 10वीं और दोपहर 3 से 4 बजे तक कक्षा बारहवीं के लिए कार्यक्रम तैयार कराए गए हैं. 10वीं और 12वीं के छात्र-छात्राओं के लिए वीडियो अपलोड भी किए गए है. जिसमें स्टूडेंट के फीडबैक के आधार पर कठिन यूनिट के लिए अलग से वीडियो अपलोड किए जाएंगे.



शिक्षक घर से करेंगे कार्यक्रम की मॉनिटरिंग
स्कूल शिक्षा विभाग ने कार्यक्रम के प्रसारण के दौरान सभी शिक्षकों को मॉनिटरिंग करने के निर्देश दिए हैं. शिक्षकों को छात्र-छात्राओं की क्लासेस के दौरान अपनी अपनी कक्षा की क्लासेस की मॉनिटरिंग प्रसारण के दौरान करनी होगी. वीडियो में आ रही कमियों को भी नोट करना होगा ताकि दूसरे दिन छात्र छात्राओं की क्लासेस के प्रसारण से पहले उन कमियों को भी दुरुस्त कर लिया जाए.

राज्य शिक्षा केंद्र का रेडियो स्कूल कार्यक्रम भी जारी
लॉकडाउन की शुरुआत में ही राज्य शिक्षा केंद्र ने प्रदेश भर के छात्र छात्राओं के लिए रेडियो स्कूल कार्यक्रम की भी शुरुआत की है. राज्य शिक्षा केंद्र का रेडियो के जरिए पढ़ाई करने का मुख्य उद्देश्य रहा कि ग्रामीण इलाकों के छात्र-छात्राओं को भी पढ़ाई में आसानी होगी.

स्कूल शिक्षा विभाग ने ऑनलाइन योगा क्लासेस की भी की शुरुआत
स्कूल शिक्षा विभाग ने पढ़ाई के साथ ही साथ छात्र-छात्राओं के तनाव को दूर करने के लिए ऑनलाइन फिटनेस क्लासेस भी शुरू की हैं. जिसमें स्टूडेंट लॉकडाउन के समय में घर के अंदर रहकर तनावमुक्त रह सकें और पढ़ाई के साथ-साथ खुद को फिट भी रख सकें. इसके लिए खेल एवं युवा कल्याण विभाग और स्कूल शिक्षा विभाग के ट्रेनर फिटनेस वीडियो छात्र-छात्राओं के लिए अपलोड कर रहे हैं.

स्कूल शिक्षा विभाग ने लॉकडाउन के समय में छात्र-छात्राओं की पढ़ाई प्रभावित न हो इसके लिए ऑनलाइन क्लासेस भी शुरू की है. सरकारी स्कूलों में DIGI-LEP ऐप के जरिए पढ़ाई करवाई जा रही है. तो दूसरी तरफ, सरकारी स्कूल के हर क्लासेस के शिक्षक अपने-अपने स्टूडेंट की ऑनलाइन क्लासेज भी ले रहे हैं. लॉकडाउन के समय में छात्र-छात्राओं का सिलेबस भी पूरा कराने की कोशिश की जा रही है. व्हाट्सएप के जरिए छात्र-छात्राओं को ऑनलाइन सिलेबस भी भेजा गया है.

बड़ी खबर : 1 जुलाई से खुलेंगे प्रदेश के सभी स्कूल, एडमिशन की प्रकिया ऑनलाइन

बोर्ड एग्जाम को लेकर कपिल सिब्बल का बड़ा बयान,पढ़ाई की भरपाई के लिए कही ये बात
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज