World Population Day 2019: जानें कैसे हुई विश्‍व जनसंख्‍या द‍िवस की शुरुआत

यूनाइटेड नेशन्स पॉपुलेशन फंड 2019 की एक रिपोर्ट के अनुसार भारत की जनसंख्या 1,367,645,974 करोड़ है.

News18Hindi
Updated: July 11, 2019, 2:20 PM IST
World Population Day 2019: जानें कैसे हुई विश्‍व जनसंख्‍या द‍िवस की शुरुआत
भारत की बढ़ती जनसंख्या
News18Hindi
Updated: July 11, 2019, 2:20 PM IST
World Population Day 2019: जनसंख्या किसी देश के लिए वरदान होती है, परन्तु जब यह अधिकतम सीमा रेखा को पार कर जाती है, तब यह अभिशाप बन जाती है. लोगों को रहने के लिए अब जगह की कमी हो गई है. जिससे कृषियोग्य भूमि घट रही है. जनसंख्या वृद्धि की समस्या अपने साथ-साथ अशिक्षा, गरीबी, बीमारी, भूखमरी, बेरोजगारी, आवास में कमी जैसी कई अन्य समस्या को भी न्योता देती है.

विश्‍व जनसंख्या दिवस की शुरुआत

11 जुलाई को प्रत्येक साल  विश्‍व जनसंख्या दिवस मनाया जाता है. इस दिवस को मनाने का उद्देश्य तेजी से बढ़ रही जनसंख्या के प्रति लोगों को जागरुक करना है. इस दिन लोगों को परिवार नियोजन, लैंगिक समानता, मानवाधिकार और मातृत्व स्वास्थ्य के बारे में जानकारी दी जाती है. विश्व जनसंख्या दिवस1989 से ही मनाया जा रहा है.इस दिन की शुरुआत, संयुक्त राष्ट्र संघ के विकास कार्यक्रम के तहत हुई और इसके बाद सारे देशों में विश्व जनसंख्या दिवस मनाया जाने लगा.

Indian population, united nations population fund, china, population of india, भारत की जनसंख्या, आंकड़े संयुक्त राष्ट्र जनसंख्या कोष, यूएनएफपीए,
विश्व जनसंख्या दिवस 2019


भारत की जनसंख्या 1,367,645,974 करोड़

बढ़ती हुई जनसंख्या का अनुमान इस तथ्य से लगाया जा सकता है कि स्वतन्त्रता प्राप्ति यानि की सन् 1997 के समय भारत की जनसंख्या मात्र 36 करोड़ थी, लेकिन अब यूनाइटेड नेशन्स पॉपुलेशन फंड 2019 की एक रिपोर्ट के अनुसार भारत की जनसंख्या 1,367,645,974 करोड़ है.

जिसमें से पुरुषों की कुल जनसंख्या 51.3% तथा महिलाओं की कुल जनसंख्या 48.4 % है.
Loading...

जनसंख्या के मामले में भारत का सबसे बड़ा शहर मुंबई है इसकी कुल जनसंख्या 12 करोड़ से भी ज्यादा है वहीं दूसरे स्थान पर भारत की राजधानी दिल्ली की जनसंख्या 11 करोड़ से भी ज्यादा है.

जनसंख्या के मामले में भारत का सबसे बड़ा राज्य उत्तर प्रदेश है वही सबसे कम जनसंख्या वाला राज्य सिक्किम है.

दुनिया में केवल 4 देश चीन ,युनाईटेड स्टेस्स, भारत, इंडोनेशिया ऐसे है, जिनकी जनसंख्या भारत के राज्य उत्तर प्रदेश से ज्यादा है.

जनसंख्या के आधार पर दुनिया का सबसे बड़ा देश चीन जिसकी  जनसंख्या 142 करोड़ के आसपास है. भारत और चीन की जनसंख्या के बीच का अंतर 7 करोड़ है.

जनसंख्या का आंकड़ा

विश्‍व जनसंख्या के आधार पर 0-14 आयु वर्ग की संख्या 26 फीसदी, 15-64 आयु वर्ग की संख्या 65 फीसदी और 65 से अधिक आयु वर्ग की संख्या 9 फीसदी है.

भारत की कुल जनसंख्या में 0-14 आयु वर्ग की संख्या 27 फीसदी, 15-64 आयु वर्ग की संख्या 67 फीसदी और 65 से अधिक आयु वर्ग की संख्या 6 फीसदी है.

चीन की कुल जनसंख्या में 0-14 आयु वर्ग की संख्या 18 फीसदी, 15-64 आयु वर्ग की संख्या 71 फीसदी और 65 से अधिक आयु वर्ग की संख्या 12 फीसदी है.

यह भी पढ़ें:

...जब अंग्रेजी ना पढ़ने पर हुई थी बंकिमचंद्र की प‍िटाई

ब्रिटेन की संसद ने बंटवारे पर मुहर लगाई फिर बंटने लगा ये देश

 

 
First published: July 11, 2019, 2:20 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...