Home /News /chhattisgarh /

कांकेर: 18 सरपंच, 3 जनपद पंचायत सदस्य ने सामूहिक रूप से दिया इस्तीफा, वजह जानकर आप भी रह जाएंगे दंग

कांकेर: 18 सरपंच, 3 जनपद पंचायत सदस्य ने सामूहिक रूप से दिया इस्तीफा, वजह जानकर आप भी रह जाएंगे दंग

एसडीएम कार्यालय के सामने इस्तीफा देने पहुंचे जन प्रतिनिधि.

एसडीएम कार्यालय के सामने इस्तीफा देने पहुंचे जन प्रतिनिधि.

कोयलीबेड़ा में बीएसएफ कैंप (BSF Camp) खोले जाने के विरोध में 18 सरपंच, 3 जनपद पंचायत सदस्य, और एक जिला पंचायत सदस्य ने सामूहिक रूप से एसडीएम (SDM) को अपना इस्तीफा (Resignation) सौंप दिया है. उनका कहना है कि कोयलीबेड़ा में उनके देवता रहते हैं.

अधिक पढ़ें ...
कांकेर. कोयलीबेड़ा में ग्रामीण बीएसएफ कैंप (BSF Camp) खोले जाने के विरोध में पखांजूर में 103 ग्राम पंचायत के 300 गांव के हजारों ग्रामीण 23 दिसम्बर से अनिश्चितकालीन धरना-प्रदर्शन (Protest) कर रहे हैं. जिसका आज चौथा दिन है. स्थानील लोगों की मांग पूरी नहीं होने पर आज क्षेत्र के 18 सरपंच, 3 जनपद पंचायत सदस्य, और एक जिला पंचायत सदस्य ने सामूहिक रूप से अपना इस्तीफा (Resignation) एसडीएम (SDM) पखांजूर को सौंप दिया.

ग्रामीण करकाघाट और तुमराघाट में पांच दिन तक आंदोलन कर चुके हैं और अब पखांजूर में अनिश्चितकालीन धरना-प्रदर्शन शुरू हुआ है. यहां के ग्रामीण अपने साथ राशन और बिस्तर लेकर अनिश्चितकालीन धरने पर बैठ गए हैं. ग्रामीणों का आरोप है कि करकाघाट और तुमराघाट में सीमा सुरक्षा बल यानी (BSF) का कैंप खोल गया है, जिसमें आदिवासियों के देवता विराजमान हैं. उनका आरोप है कि ग्रामसभा की अनुमति के बिना उद्योगपतियों को लाभ पहुंचाने के लिए ही यह कैंप खोला गया है. वहीं कांकेर एडिशनल एसपी गोरखनाथ बघेल ने इस पूरे प्रदर्शन को नक्सलियों के दबाव में बताया है.

छत्तीसगढ़: सुकमा में CRPF जवानों पर हमला करने वाले 5 कुख्यात उग्रवादी गिरफ्तार, गश्ती दल ने दबोचा

उन्होंने कहा कि 'नक्सली दबाव के चलते आंदोलन किया जा रहा है. कोयलीबेड़ा पखांजूर मेढ़की नदी पर पुल का निर्माण किया जा रहा है, जिससे क्षेत्र में विकास होगा. उन्होंने कहा कि विकास विरोधी बात कौन करता है, सब जानते हैं. ग्रामीणों का ये आन्दोलन अब तूल पकड़ने लगा है, लेकिन मजे की बात यह है कि जनता का हितैषी कहे जाने वाले स्थानीय विधायक ने अब तक आन्दोलनकारियों की सुध नहीं ली है. ऐसे में कांकेर के कोयलीबेड़ा में ग्रामीण बीएसएफ कैंप खोलेने का विरोध कर रहे हैं.

ग्रामीणों ने मांग पूरी नहीं होने पर उग्र आंदोलन की चेतावनी दी है. 18 सरपंच, 3 जनपद पंचायत सदस्य, 1 जिला पंचायत सदस्य ने सामूहिक इस्तीफा एसडीएम पखांजूर को सौंप दिया है. सभी के इस्तीफे पर आगे क्या होगा इसके बारे मं प्रशासन और से अभी तक कोई जानकारी मीडिया को नहीं दी गई है. इलाके में बीएसएफ के कैंप बनने से इलाके के लोगों को और कई तरह के डर सता हैं. जैसे कि सेना के क्षेत्र में आने लोगों के दिमाग में एक तरह का डर का माहौल तैयार होगा और वह अपना जीवन खुलकर नहीं जी सकेंगे.

Tags: Chhattisgarh news, Election, Kanker news, Politics

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर