Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    बिलासपुर: दिनदहाड़े युवक की हत्या के मामले में ASI सस्पेंड, दो थानेदारों को शो कॉज नोटिस

    बिलासपुर के एसपी ने थानेदारों के ऊपर कार्रवाई की है.
    बिलासपुर के एसपी ने थानेदारों के ऊपर कार्रवाई की है.

    बिलासपुर में दीपावली (Dipawali) के एक दिन पहले युवक की हत्या (Murder) के मामले में पुलिस अधीक्षक (Police Officer) प्रशांत अग्रवाल ने सिविल लाइन थाने के एएसआई शांतिलाल टोप्पो को निलम्बित (Suspend) कर दिया है.

    • News18Hindi
    • Last Updated: November 20, 2020, 12:49 AM IST
    • Share this:
    बिलासपुर. दीपावली (Dipawali) के एक दिन पहले शहर में दिन-दहाड़े तलवारबाजी कर युवक की हत्या (Murder) कर दी गई थी. अब इस मामले में पुलिस अधीक्षक (Police Officer) प्रशांत अग्रवाल ने सिविल लाइन थाने के एएसआई शांतिलाल टोप्पो को निलम्बित (Suspend) कर दिया है. साथ ही थाना प्रभारी को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है. इसके साथ ही एसपी ने सरकंडा पुलिस थाना प्रभारी से भी जवाब मांगा है.

    बीते 13 नवंबर को कारगिल चौक, सिंधी कॉलोनी में दोपहर करीब 12 बजे तीन बदमाशों फिरोज खान, अरमान अली और आकाश सोंधिया ने रंगोली की दुकान चला रहे रोशन यादव को तलवार से गोदकर मार डाला था. दिनदहाड़े हुई इस घटना से इलाके में दहशत का माहौल है. घटना के कुछ दिन पहले से आरोपी रोशन यादव के पास आकर धमकियां दे रहे थे और हथियार भी लहरा रहे थे. रोशन ने इसकी लिखित शिकायत सिविल लाइन थाने में 11 नवंबर को की थी, लेकिन पुलिस ने इस मामले में कोई कार्रवाई नहीं की, जिसके चलते अपराधियों के हौंसले बुलंद होते रहे और अपराधियों ने हत्या की वारदात को अंजाम दे दिया.

    CM भूपेश बघेल की गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात, नक्‍सलवाद-रोजगार समेत कई मुद्दों पर हुई चर्चा



    Dailychhattisgarh.com की खबर के अनुसार आरोपियों ने वारदात को शनिचरी बाजार इलाके में अंजाम दिया. जानकारी ऐसी भी मिल रही है कि कुछ दिन पहले सरकंडा थाने में इन आरोपियों ने चाकूबाजी की थी. सरकंडा पुलिस ने भी इन पर कोई कार्रवाई नहीं की. इससे अपराधियों के हौंसले बुलंद हो गये थे.


    घटना को लेकर सिंधी कॉलोनी और कस्तूरबा नगर के पार्षदों और नागरिकों ने आईजी और पुलिस अधीक्षक को शिकायत की और घटना के लिये पुलिस को जिम्मेदार ठहराया था. उनका कहना था कि लिखित शिकायत को पुलिस यदि गंभीरता से लेती तो रोशन यादव को जान नहीं गंवाना पड़ता. इस शिकायत के बाद जिले के एसपी ने कार्रवाई की है.
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज