लाइव टीवी

बालोद के इस मंदिर में 3 करोड़ से भी ज्यादा ओम नमः शिवाय मंत्रों का किया जा रहा अभिषेक

Santosh Kumar Sahu | News18 Chhattisgarh
Updated: March 1, 2019, 1:07 PM IST

बालोद के दसोदी तालाब स्थित जलेश्वर महादेव मंदिर में ओम नमः शिवाय मंत्र निधि अर्पण का 4 दिवसीय महोत्सव आयोजन के चलते पूरे क्षेत्र का माहौल भक्तिमय बना हुआ है.

  • Share this:
छत्तीसगढ़ में बालोद जिला मुख्यालय के दसोदी तालाब स्थित जलेश्वर महादेव मंदिर में ओम नमः शिवाय मंत्र निधि अर्पण का 4 दिवसीय महोत्सव आयोजन के चलते पूरे क्षेत्र का माहौल भक्तिमय बना हुआ है. वहीं कोलकाता से पहुंचे 9 वैदिक पंडितों द्वारा विशेष पूजा अर्चना के साथ 3 करोड़ से भी ज्यादा ओम नमः शिवाय मंत्रों का अभिषेक किया जा रहा है.

गौरतलब है कि 4 जुलाई 2012 से यहां भक्तों द्वारा ओम नमः शिवाय मंत्र लेखन का कार्य अनवरत जारी है. अब तक 26 करोड़ 97 लाख 47 हजार 971 मंत्र लिखा जा चुका है. इस मंत्र लेखन मे सभी वर्ग की सहभागिता है. बता दें कि ओम नमः शिवाय मंत्रों का यह 7वां अभिषेक आयोजन किया जा रहा है.

दसोदी तालाब के बीचों बीच स्थापित शिव लिंग आज हजारों लोगों के लिए आस्था का प्रमुख केंद्र बन गया है. दरअसल, इस स्थल में एक अलग ही व्यवस्था है. यहां तालाब के चारों तरफ से कक्ष बना हुआ है. अनुभूति शब्द नहीं अनुभव की भक्तिमय उद्देश्य को लेकर इन कमरों में भक्तगण अपनी सुविधानुसार साल भर आकर यहां रखे पन्नों में ओम नमः शिवाय मंत्र का लेखन करते हैं.

यह सिलसिला बीते 4 जुलाई 2012 से जारी है, जिसमें कई ऐसे भक्त शामिल हैं जो शुरुआती दौर से ही यहां आकर मंत्र लिख रहे हैं. इसमें बच्चे, महिला, पुरुष सभी को मंत्र लेखन की छूट है. लोग बेहद भक्तिभावना से आते हैं और मंत्र लेखन में जुट जाते हैं. मिली जानकारी के मुताबिक अभी तक 26 करोड़ 97 लाख 47 हजार 971 मंत्र लिखा जा चुका है. इन्हीं मंत्र लेख को लेकर एक पुष्यवर्धन उत्सव मंत्र अर्पण का यह छठवा अभिषेक आयोजन है, जो 9 वैदिक पंडितों द्वारा विशेष पूजा अर्चना के साथ किया जा रहा है.

4 चार दिनों तक चलने वाले इस महोत्सव में हर रोज शाम 7 बजे महाआरती होती है, जिसमें बड़ी संख्या में लोग सम्मिलित होते हैं.

ये भी पढ़ें:- बस्तर क्षेत्र आदिवासी विकास प्राधिकरण बनने से इसलिए बीजापुर को मिलेगा सीधा लाभ!

ये भी पढ़ें:- कांकेर में यहां बूंद-बूंद पानी के लिए भटकते हैं लोग!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बालोद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 1, 2019, 1:02 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर