लाइव टीवी

कमजोर प्रबंधन के चलते लगातार घाटे में जा रहा बालोद का ये शूगर कारखाना

Santosh Kumar Sahu | News18 Chhattisgarh
Updated: January 25, 2019, 3:42 PM IST
कमजोर प्रबंधन के चलते लगातार घाटे में जा रहा बालोद का ये शूगर कारखाना
कमजोर प्रबंधन के चलते लगातार घाटे में जा रहा बालोद का ये शूगर कारखाना

बालोद के मां दंतेश्वरी शक्कर कारखाने के निर्वाचित अध्यक्ष बल्दू राम ने कारखाना प्रबंधन को ही कटघरे में खड़ा कर दिया है.

  • Share this:
छत्तीसगड़ में बालोद जिले का एक मात्र शक्कर कारखाना वर्ष 2009 से संचालित है, लेकिन शक्कर कारखाने के निर्माण के बाद आज तक यहां किसी भी प्रकार चुनाव नहीं होने से सरकारी व्यवस्थाओं के बीच कारखाना संचालित किया जा रहा था. बहरहाल, इसी वर्ष छत्तीसगढ़ निर्वाचन आयोग ने शक्कर करखाने में भी चुनाव कराने का निर्णय लेते हुए सबसे पहले शूगर कारखाना करकाभाट में संचालक मंडल का चुनाव कराया, जिसके बाद शक्कर कारखाने के संचालक मंडलों ने चुनावी प्रक्रिया में हिस्सा लेते हुए अध्यक्ष, उपाध्यक्ष समेत 4 पदों के लिए चुनाव किए.

इसमें बालोद के मां दंतेश्वरी शक्कर कारखाने में अध्यक्ष पद के लिए बल्दूराम को 8 वोट और भोजराम डड़सेना को 3 वोट मिले. इस तरह बल्दू 5 वोट से जीत हासिल कर इस शक्कर कारखाने का पहला अध्यक्ष बन गया. इस चुनाव में भी कांग्रेस का ही पलड़ा भारी रहा. दरअसल, जीतने वाले सभी पदाधिकारी कांग्रेस समर्थित प्रत्यासी थे.

इस तरह पहली बार शक्कर कारखाने का अध्यक्ष बनने के बाद निर्वाचित अध्यक्ष बल्दू राम ने कारखाना प्रबंधन को ही कटघरे में खड़ा कर दिया. अब तक कारखाने में कमजोर प्रबंधन के चलते कारखाने को लगातार घाटे में चलने का सबसे बड़ा कारण मान रहे हैं. साथ ही इस कारखाने की तमाम समस्याओं को अब प्रदेश सरकार के पास रखकर इससे जुड़े किसानों से मिलकर अब कारखाने को बेहतर तरीके से चलाने की दिशा में कार्य करने की बात कहते नजर आए.

वहीं इस शक्कर कारखाने में सबसे ज्यादा परेशानी गन्ना किसानों को है. गन्ना बेचने के लिए 3-4 दिनों तक अपने घर से दूर रहकर शक्कर कारखाने में लाइन लगानी पड़ती है. किसानों की समस्या पर भी अब सभी किसानों के साथ बैठक कर उनकी परेशानियों को जल्द ही दूर करने की बातों पर जोर देते दिखे. इसके अलावा कारखाने में हर वर्ष मेंटेनेंस के नाम पर लाखों रुपए खर्च करने के मामले पर भी जांच कराने की बात नए अध्यक्ष ने कही है.

ये भी पढ़ें:- आरक्षक ही बना गया उठाईगिरी का शिकार, बाइक के हैंडल में टंगे बैग से रकम पार

ये भी पढ़ें:- ऑनलाइन रिश्ता ढूंढ रहे हैं तो हो जाएं सावधान, इस महिला को लगा लाखों का चूना

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बालोद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 25, 2019, 3:42 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर