बालोद: तेलंगाना से लौटी युवती की मौत, रिपोर्ट से पहले हुआ अंतिम संस्कार, अब कलेक्टर ने की ये कार्रवाई
Balod News in Hindi

बालोद: तेलंगाना से लौटी युवती की मौत, रिपोर्ट से पहले हुआ अंतिम संस्कार, अब कलेक्टर ने की ये कार्रवाई
युवतियों ने कई आरोप लगाए हैं.

कलेक्टर रानू साहू ने कोविड-19 महामारी के चलते शव परीक्षण के संबंध में संचालनालय चिकित्सा शिक्षा द्वारा दिए गए दिशा-निर्देशों का पालन नहीं करने पर खण्ड चिकित्सा अधिकारी डौण्डी को नोटिस जारी कर दिया है.

  • Share this:
बालोद. तेलंगाना (Telangana) से आई 20 साल की युवती की तबीयत बिगड़ने के बाद मौत हो गई है. डौंडी क्षेत्र के पचेड़ा गांव में क्वारंटाइन (Quarantine) थी युवती. पूरे मामले में मिली जानकारी के अनुसार मृतक युवती 17 मई को  तेलांगना राज्य से वापस आई थी. इसके बाद गांव के ही क्वारंटाइन सेंटर में रह रही थी. इस बीच युवती की तबियत बिगड़ने पर युवती को बालोद कोविड-19 अस्पताल लाया गया. जहां पर इलाज के बाद स्थिति में सुधार नहीं होने पर राजनांदगांव रेफर किया गया था. लेकिन राजनांदगांव में भी युवती की हालत बिगड़ने लगी. फिर वहां से उसे रायपुर (Raipur) रेफर किया गया.

इस बीच जब युवती को राजनांदगांव से रायपुर ले जाया जा रहा था रास्ते में उसने दम तोड़ दिया. युवती की मौत का कारण फिलहाल स्पष्ट नहीं हुआ है. वहीं इस पूरे मामले में क्वारंटाइन सेंटर रह रहीं अन्य युवतियों ने बताया कि मृतक युवती जब वापस आई तो उसका स्वास्थ्य परीक्षण नहीं हुआ था. युवतियों का आरोप है कि जिस दिन युवती आई थी उसी  दिन से  उसकी तबीयत काफी खराब थी. दूसरे दिन मामले का पता चलने के बाद स्वास्थ्य विभाग ने युवती को जिला अस्पताल में भर्ती कराया. अस्पताल में स्वास्थ्य परीक्षण के बाद मेडिकल कॉलेज राजनंदगांव भेजा गया. तबीयत खराब होने के बाद युवती को रायपुर रेफर किया गया. रायपुर जाते समय युवती ने दम तोड़ दिया.

युवती की रिपोर्ट का इंतजार



वहीं पूरे मामले ने कई सवाल खड़े कर दिया हैं. युवती की मौत के बाद शव उसके परिजनों को सौंप दिया गया और परिजनों ने अंतिम संस्कार भी कर दिया. फिलहाल मृतक युवती का कोरोना सैंपल टेस्ट का रिपोर्ट आना बाकी है. पूरे मामले में स्वास्थ्य विभाग द्वारा फिलहाल कुछ भी कहा नहीं गया है. तो वहीं मामले की गंभीरता को देख कलेक्टर रानू साहू ने कोविड-19 महामारी के चलते शव परीक्षण के संबंध में संचालनालय चिकित्सा शिक्षा द्वारा दिए गए दिशा-निर्देशों का पालन नहीं करने पर खण्ड चिकित्सा अधिकारी डौण्डी को कारण बताओ नोटिस जारी कर दो दिन में जवाब प्रस्तुत करने कहा है.

ये भी पढ़ें: 

COVID-19 Update: छत्तीसगढ़ में रिकॉर्ड 44 नए केस, एक्टिव मरीज अब बढ़कर हुए 185 

रायपुर एयरपोर्ट से आज उड़ेंगी 7 फ्लाइट्स, यात्रियों के लिए बने नए नियम, ये है 30 जून तक का पूरा शेड्यूल 

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज