बालोद में धान खरीदी में बड़ी गड़बड़ी का खुलासा, जांच के बाद कलेक्टर ने जारी किया नोटिस

छत्तीसगढ़ के बालोद जिले के धान संग्रहण केंद्र जगतरा, फुन्डाभाटा, मालीघोरी तथा धोबनपुरी के धान संग्रहण केन्द्रों में बड़ी गड़बड़ी किए जाने का खुलासा हुआ है.

Santosh Kumar Sahu | News18 Chhattisgarh
Updated: April 26, 2019, 12:28 PM IST
बालोद में धान खरीदी में बड़ी गड़बड़ी का खुलासा, जांच के बाद कलेक्टर ने जारी किया नोटिस
Demo Pic.
Santosh Kumar Sahu | News18 Chhattisgarh
Updated: April 26, 2019, 12:28 PM IST
छत्तीसगढ़ के बालोद जिले के धान संग्रहण केंद्र जगतरा, फुन्डाभाटा, मालीघोरी तथा धोबनपुरी के धान संग्रहण केन्द्रों में बड़ी गड़बड़ी किए जाने का खुलासा हुआ है. यहां लगातार धान परिवहन से जुड़े पहले भी कई मामले सामने आ चुके हैं. हाल ही में इन संग्रहण केन्द्रों में कलेक्टर द्वारा जांच कराये जाने के बाद जिले के चारो संग्रहण केन्द्रों में 5 हजार 7 सौ 36 बोरी धान अधिक पाई गई है.

औसतन एक बोरी में 40 किलोग्राम के भर्ती के हिसाब से 2294 क्विंटल धान अधिक पाया गया है. धान खरीदी बंद होने के करीब ढाई माह बाद इन संग्रहण केन्द्रों से इतनी अधिक मात्रा में धान पाए जाने के बाद कलेक्टर ने पूरे मामले में जिला विपणन अधिकारी व धान संग्रहण केन्द्रों के प्रभारी को बालोद कलेक्टर ने कारण बताओ नोटिस जारी कर दी है.



कलेक्टर के अचानक इस कार्रवाई को लेकर विपणन संघ के अधिकारियों के बीच जहां हड़कंप की स्थिति मच गई. कलेक्टर रानू साहू ने बताया कि जांच में निर्धारित मात्रा से सैकड़ों बोरे धान अधिक मिलने की जानकारी सामने आई. यदि संग्रहण केंद्रों में इतनी अधिक मात्रा में धान ज्यादा पाया जाता है तो जिले का धान संग्रहण केंद्रों में किसानों के अधिकारों में डाका डालने के साथ-साथ एक बड़े घोटाले का पर्दाफाश होने से इनकार नहीं किया जा सकता.
ये भी पढ़ें: VIDEO: ट्राई के चेयरमैन बता रहे हैं-टेलीकॉम सेक्टर में क्या हो रहा है खास 

ये भी पढ़ें:  छत्तीसगढ़ में बढ़े वोटिंग परसेंट को लेकर आप भी भ्रम में तो नहीं हैं?
ये भी पढ़ें: नक्सल हिंसा से पीड़ित 29 आदिवासी परिवार 15 साल बाद लौटेंगे सुकमा
ये भी पढ़ें: छत्तीसगढ़ में इसलिए याद किया जाएगा 2019 का लोकसभा चुनाव...
Loading...

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स  
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...