लाइव टीवी

बड़ी लापरवाही: पंच पद पर दूसरे प्रत्याशी का नाम किया घोषित, कलेक्टर ने मांगा जवाब

News18 Chhattisgarh
Updated: February 13, 2020, 1:50 PM IST
बड़ी लापरवाही: पंच पद पर दूसरे प्रत्याशी का नाम किया घोषित, कलेक्टर ने मांगा जवाब
कलेक्टर ने नोटिस जारी कर जवाब मांगा है, (File Photo)

पंच पद में आरक्षित पिछड़ा वर्ग की जगह अनुसूचित जनजाति वर्ग के प्रत्याशी का नामांकन पत्र को सही मानकर चुनाव में विजय घोषित कर दिया गया था. अब इस मामले में कलेक्टर ने अधिकारियों से जवाब तलब किया है.

  • Share this:
बालोद. त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव (Panchayat Election) में कार्य में लापरवाही का एक बड़ा मामला सामने आया है. अनियिमिता के लिए गुरुर ब्लॉक के रिटर्निंग अधिकारी (Returning Officer) , डिप्टी कलेक्टर हितेश्वरी बाघे और सहायक रिटर्निंग अधिकारी एनआर सिन्हा को कलेक्टर रानू साहू ने कारण बताओ नोटिस (Notice) जारी किया है. दरअसल,  ग्राम अरमरीकला के वार्ड नम्बर 5 में  पंच पद में आरक्षित पिछड़ा वर्ग की जगह अनुसूचित जनजाति वर्ग के प्रत्याशी का नामांकन पत्र को सही मानकर चुनाव में विजय घोषित कर दिया गया था. अब इस मामले में कलेक्टर ने अधिकारियों से जवाब तलब किया है.


क्या लिखा है जारी पत्र में



बालोद जिला निर्वाचन से डिप्टी कलेक्टर को जारी पत्र के मुताबिक त्रिस्तरीय पंचायत आम निर्वाचन 2019 -20 के जनपद पंचायत गुरूर के पंच, सरपंच एवं जनपद पंचायत सदस्य के निर्वाचन के लिए रिटर्निंग आफिसर(पंचा.) नियुक्त किया गया था. ग्राम पंचायत अरमरीकला के वार्ड क्रमांक 5 पंच पद के लिए आरक्षण रोस्टर अनुसार अन्य पिछड़ा वर्ग के लिए आरक्षित था. लेकिन अनुसूचित जनजाति वर्ग के प्रत्याशी द्वारा प्रस्तुत नामांकन पत्र को सही मानते हुए मान्य किया गया तथा संबंधित अभ्यर्थी द्वारा निर्वाचन लड़कर विजयी घोषित हो गया है.


कलेक्टर ने ये नोटिस जारी किया है.




देना होगा जवाब


पत्र में लिखा गया है कि इस तरह आपके द्वारा निर्वाचन जैसे महत्वपूर्ण कार्यों के प्रति गंभीर लापरवाही बरती गई है,  जो सिविल सेवा आचरण नियम, 1965 एवं छत्तीसगढ़ पंचायत निर्वाचन नियम, 1995 के नियम के विपरीत है. क्यों न उक्त कृत्य के लिए आपके विरूद्ध अनुशासनात्मक कार्रवाई किया जाए. तो वही इस संबंध में अपना स्पष्टीकरण दो दिन के भीतर समक्ष उपस्थित होकर प्रस्तुत करने तथा संतोषप्रद जवाब प्रस्तुत न होने पर जिम्मेदार के खिलाफ एकपक्षीय कार्रवाई किए जाने की बात विभागीय पत्र में लिखा गया है. वहीं मामले को लेकर फिर एक बार अधिकारियों में हड़कंप मचा हुआ है. इससे पहले भी निर्वाचन कार्य में लापरवाही मामले में डौंडीलोहारा क्षेत्र के कुछ अधिकारियों पर निलंबन की कार्रवाई हो चुकी है.



ये भी पढ़ें: 




News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बालोद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 13, 2020, 1:48 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर