EXAM से पहले आईजी रतनलाल डांगी का बच्चों को खुला पत्र, लिखा-'सफलता आपका अधिकार है'
Balod News in Hindi

रतन लाल डांगी ने लिखा है- दोस्तों याद रखना आपका जन्म ही सफलता के लिए हुआ है. सफलता आपका अधिकार है बस उस अधिकार को पाने के लिए कुछ करने की, अपने आत्मविश्वास को जगाने की जरुरत है.

  • Share this:
दुर्ग रेंज के पुलिस आईजी रतनलाल डांगी का परीक्षार्थियों के नाम एक खुला पत्र सामने आया है. इसमें आईजी डांगी ने परीक्षा से पहले महत्वपूर्ण टिप्स विद्यार्थियों को दिए हैं. डांगी ने लिखा है कि मेरे युवा साथियों, आप सबको जय हिन्द,जय भारत. आशा करता हूं आप सब अच्छे होंगे. आपकी तैयारी भी अच्छी चल रही होगी. अगले दो माह परीक्षाओं के माह हैं और उसके अगले माह आप सबकी सफलता की कहानी सुनने व सुनाने का समय शुरू हो जाएगा.

रतन लाल डांगी ने लिखा है- दोस्तों याद रखना आपका जन्म ही सफलता के लिए हुआ है. सफलता आपका अधिकार है बस उस अधिकार को पाने के लिए कुछ करने की, अपने आत्मविश्वास को जगाने की जरुरत है. परीक्षा तो एक सीढ़ी है, जिसे हर कोई पार कर लेता है.

आवश्यकता है अनुशासन की, संयम की और धैर्य की. परीक्षा के नाम से केवल आप ही नहीं बल्कि हर इंसान को डर लगता हैं. यह समय न केवल आपके लिए बल्कि अभिभावकों के लिए भी महत्वपूर्ण है. आपकी तो केवल ज्ञान की परीक्षा है, लेकिन अभिभावकों की समझदारी और धैर्य की परीक्षा है.



दुर्ग रेंज के आई से बातचीत करने पर उन्होंने कहा कि अगले 2 माह परीक्षाओं का महीना है और परीक्षा आते ही कई बच्चो के मन में डर समा जाते हैं और घबरा जाते हैं, जिसके चलते वे कभी कभी कुछ ऐसे कदम उठा जाते हैं, जिसका खामियाजा पूरे परिवार को उठाना पड़ता, जिसके चलते वे लगातार स्कूली बच्चों व उनके परिवार के साथ साथ शिक्षकों को मोटिवेट तथा जागरूक करने उनके द्वारा अपने फेसबुक वाल पर यह पत्र लिखने का प्रयास किया गया साथ ही उनके द्वारा लगातार बच्चो को प्रोत्साहित करने प्रत्यक्ष व परोक्ष रूप से प्रयास किया जाता रहा है.
इस मामले में आईजी का मानना साफ़ है कि परीक्षा के समय तनाव स्वाभाविक होता है. स्कूली छात्रों पर शिक्षकों का, माता पिता का समाज का परोक्ष एवं अपरोक्ष दबाव रहता है, जिसमे बहुत सारे बच्चे तनाव को अपने पर हावी नहीं होने देते है, लेकिन कुछ स्टूडेंट्स स्ट्रेस के शिकार हो जाते हैं, जिन्हें यदि समय पर काउंसलिंग या साथ नहीं मिलता है तो वो डिप्रेशन के शिकार हो जाते हैं. कई बार अनुचित कदम भी उठा लेते हैं, जिससे परिवार पर पहाड़ टूटने जैसी स्थिति पैदा हो जाती हैं. इसलिए इस परीक्षा की घड़ी मे न केवल आपको को बल्कि अभिभावकों व शिक्षकों को सतर्क रहने की जरूरत है.
ये भी पढ़ें: एयर स्ट्राइक: पूर्व सीएम डॉ. रमन का ट्वीट- 'हमला नहीं प्रतिशोध है, हर भारतीय का आक्रोश है'
ये भी पढ़ें: एयर स्ट्राइक पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का ट्वीट, 'वायुसेना को हमारा सलाम'
ये भी पढ़ें: लोकसभा चुनाव को प्रभावित करने प्रदेश में चल रहा है ‘तबादला उद्योग’: JCCJ
ये भी पढ़ें: कोरबा नगर निगम में 8 अरब 22 करोड़ 35 लाख रुपये का बजट पास
एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज