लाइव टीवी

भ्रष्टाचारी को 84 साल की सजा, 23 लाख रुपए जुर्माना भी लगा

Narendra Kumar | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: January 1, 2018, 7:05 PM IST
भ्रष्टाचारी को 84 साल की सजा, 23 लाख रुपए जुर्माना भी लगा
सांकेतिक तस्वीर

बलौदाबाजार में जिला सत्र न्यायालय के मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट आदित्य जोशी की कोर्ट में गबन के मामले में एक ऐतिहासिक फैसला सुनाया है.

  • Share this:
बलौदाबाजार में जिला सत्र न्यायालय के मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट आदित्य जोशी की कोर्ट में गबन के मामले में एक ऐतिहासिक फैसला सुनाया है. 14 साल चले पुराने गबन के मामले मे बलौदाबजार के तत्कालीन विकास खण्ड शिक्षा अधिकारी डी आर कौशिक (दुलारी राम कौशिक) को गबन, घोखाधड़ी, अमानत मे खैयनात सहित 6 मामलो मे 14-14 साल की सजा सहित कुल 84 साल की सजा तथा 23 लाख रुपए का जुर्माना की सजा सुनाई है.

सन् 2003 मे डी आर कौशिक ने विकासखंड शिक्षा अधिकारी रहते अपने पद को दुरुपयोग करते अपने स्टाफ के क्लर्क से मिलकर शिक्षकों के जीपीएफ फण्ड से स्वयं आवेदन कर एक करोड़ रुपए का गबन किया था. इसमें दो क्लर्क भी शामिल थे. जिसकी (दोनो क्लर्क ) की लंबी सुनवाई के दौरान मौत हो गयी.

गबन का यह मामला 14 साल चला और अंत मे पूर्व विकास खंड शिक्षा अधिकारी डीआर कौशिक को सजा हुई व जेल में हैं. शासकीय अधिवक्ता संजय तिवारी ने बताया कि इस मामले को कोर्ट ने गंभीरता से लिया. लंबी सुनवाई के बाद सजा दी गई.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बलौदा बाजार से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 1, 2018, 7:05 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर