लाइव टीवी

नेत्रहीन बालिका की पढ़ाई की ललक, कलेक्‍टर से मांगी मदद

Narendra Sharma | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: October 12, 2017, 5:03 PM IST
नेत्रहीन बालिका की पढ़ाई की ललक, कलेक्‍टर से मांगी मदद
कलेक्‍टर से मदद मांगने अपनी मां के साथ पहुंची सरस्‍वती चौहान.

छत्‍तीसगढ़ के बलौदाबाजार जिले के ग्राम चरेला की एक नेत्रहीन बेटी पढ़ने की ललक लिए कलेक्टर से मदद मांगने गुरुवार को कलेक्टोरेट पहुंची.

  • Share this:
छत्‍तीसगढ़ के बलौदाबाजार जिले के ग्राम चरेला की एक नेत्रहीन बेटी पढ़ने की ललक लिए कलेक्टर से मदद मांगने गुरुवार को कलेक्टोरेट पहुंची. उसके साथ उसकी मां लखेश्वरी चौहान भी थी.

दोनों आंखों से देख नहीं सकने के बाद भी सरस्वती चौहान की पढ़ने की ललक और सोच ऐसी कि वह कलेक्टर के दफ्तर चली आई और कलेक्टर राजेश सिंह राणा से बात कर पढ़ने के लिए मदद मांगी.

बता दें कि उसकी मां लखेश्वरी चौहान के पास आय का कोई साधन नहीं है. वह घर-घर भिक्षा मांगकर अपनी बेटी सरस्वती को पढ़ा रही है. अभी सरस्वती चौहान 12वीं कक्षा में बेलटिकरी के हाईस्कूल में पढ़ रही है. मां-बेटी के पास ने तो घर है और न ही राशन कार्ड, इसलिए राशन नहीं मिलता. घर से स्कूल आने में पैसे लगते हैं, इसलिए सरस्वती ने बस पास देने की भी मांग की.

कलेक्टर राजेश सिंह राणा ने सरस्‍वती से 12वीं कक्षा पास करने और उसके बाद रोजगार पर ध्यान देने की बात कही. कलेक्‍टर ने मां-बेटी का राशन कार्ड बनाने, बस पास बनाने तथा प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत उन्‍हें आवास देने के लिए आवश्‍यक कार्रवाई के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए.

कलेक्‍टर राणा ने न्‍यूज़18/ईटीवी को बताया कि जिला प्रशासन समाज कल्‍याण विभाग और शिक्षा विभाग की मदद से सरस्‍वती चौहान को आगे पढ़ाई जारी रखने में पुस्‍तकें व अन्‍य सहायता दिलाएगा.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बलौदा बाजार से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 12, 2017, 5:03 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर