खतरे के साये में है बस्तर का हरा सोना

हरे सोने पर लाल आतंक का भय और मौसम की मार के चलते तेदूपत्ते की खरीदी लक्ष्य तक नहीं पहुंच पा रही है.

Vinod Kushwaha | News18 Chhattisgarh
Updated: May 18, 2018, 6:22 PM IST
खतरे के साये में है बस्तर का हरा सोना
बस्तर का हरा सोना..... तेंदूपत्ता
Vinod Kushwaha | News18 Chhattisgarh
Updated: May 18, 2018, 6:22 PM IST
बस्तर के वनवासियों की आय का जरिया बना बस्तर का हरा सोना माओवादियों के भय और मौसम की मार के चलते खतरे के साए में है. हरे सोने पर लाल आतंक का भय और मौसम की मार के चलते तेदूपत्ते की खरीदी लक्ष्य तक नहीं पहुंच पा रही है.

वन विभाग को डर सता रहा है कि इस बार तेदूपत्ते की खरीदी लक्ष्य के आंकडे को पार नहीं कर पाऐगी. हालांकि विभाग की कोशिशे जारी है लेकिन हरे सोने पर मंडरा रहे खतरे को दूर करने वन विभाग पूरी तरह से नाकाम ही नजर आ रहा है.

वन विभाग द्वारा इस साल बस्तर वन वत्त में सवा दो लाख मानक बोरा तेदूपत्ता की खरीदी का लक्ष्य रखा गया है. लेकिन समय के लिहाज से देखे तो अब तक तेदूपत्ता की खरीदी का लक्ष्य आधा भी नहीं हुआ है.

बस्तर वन वत्त की जिम्मेदारी संभाल रहे सीएफ श्रीनिवास राव के मुताबिक इस बार सवा दो लाख मानक बोरा तेदूपत्ता की खरीदी का लक्ष्य रखा गया है.

एक नजर बस्तर वन वत्त में तेदूपत्ता की खरीदी पर

वन मंडल का नाम लक्ष्य खरीदी
बस्तर 25100 22919
बीजापुर 80500 65763
सुकमा 90400 32306
दंतेवाडा 19000 13062
योग 215000 134051


सीएफ श्री निवास राव का कहना है कि बस्तर के माओवाद ग्रस्त इलाकों में ग्रामीणों द्वारा जंगल में जाने में रूचि नहीं दिखाई जा रही है. तेदूपत्ता तोड़ने वाले वनवासी जंगल में जाने से डर रहे है. इस वजह से तेदूपत्ता के संग्रहण और खरीदी में परेशानी आ रही है. तेदूंपत्ता संग्राहकों द्वारा पत्ता खरीदी
केन्द्रों तक नहीं लाए जाने से बार-बार खरीदी का काम रोका जा रहा है. तेदूपत्ता संग्राहकों को विभाग समाइश देने का काम कर रहा है लेकिन ग्रामीण विभाग की बात मानने तैयार नहीं हो रहे है.

वन विभाग भले ही तेदूपत्ता की खरीदी लक्ष्य को पार नहीं कर पाने के पीछे की वजह को साफ तौर पर स्पष्ट नहीं कर पा रहा है लेकिन ये तय है कि मई के महीने में जिस लक्ष्य की खरीदी की जानी चाहिए वह पार नहीं हो पाई है. ऐसे में संभावना कम ही है कि जून तक तेदूपत्ता की खरीदी का लक्ष्य पूरा हो पाएगा

IBN Khabar, IBN7 और ETV News अब है News18 Hindi. सबसे सटीक और सबसे तेज़ Hindi News अपडेट्स. Chhattisgarh News in Hindi यहां देखें.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर