काली डायरी ने खोले नक्सलियों के कई अहम राज

File Photo

बस्तर में सुरक्षा बलों के बढ़ते दबाव के चलते नक्सली बैकफुट पर हैं. ये बात अब पुलिस नहीं बल्कि खुद नक्सली भी स्वीकार रहे हैं और इसका खुलासा काली डायरी में नक्सलियों द्वारा लिखी गई बातों से हुआ है. उम्मीद की जा रही है कि 2016 के अंत तक दरभा इलाके से नक्सलवाद पूरी तरह से खत्म हो जाएगा.

  • Share this:
दंतेवाड़ा में कुछ दिनों पहले नक्सली कैंप ध्वस्त करने के दौरान मिली काली डायरी में दर्ज कई राज अब धीरे-धीरे सामने आ रहे हैं. नक्सलियों के कई ऐसे राज इस काली डायरी के पन्नों में दर्ज हैं, जो उनके पतन की ओर इशारा करते हैं.

बस्तर में सुरक्षा बलों के बढ़ते दबाव के चलते नक्सली बैकफुट पर हैं. ये बात अब पुलिस नहीं बल्कि खुद नक्सली भी स्वीकार रहे हैं और इसका खुलासा काली डायरी में नक्सलियों द्वारा लिखी गई बातों से हुआ है.

जगदलपुर एसपी आर.एन. दास के मुताबिक, काली डायरी के एक पन्ने में नक्सलियों ने जो बातें लिखी हैं उसमें जगदलपुर जिले के दरभा में उनकी ताकत लगातार कमजोर हो रही है.

इस बात को नक्सल संगठन स्वीकार कर रहा है. दरभा इलाके में नक्सल संगठन के कमजोर होने के पीछे कारणों को लेकर पुलिस अधीक्षक जगदलपुर का मानना है कि बस्तर में लगातार चल रहे ऑपरेशन और सरकार की नीतियों से प्रभावित होकर रास्ता भटक चुके नक्सली लगातार संगठन छोड़कर मुख्य धारा में लौट रहे हैं. आंकड़ों की तरफ नजर डालें तो पिछले साल से लेकर अब तक करीब 361 माओवादियों ने सरेंडर किया है.

ये आकंड़ा सिर्फ जगदलपुर जिले का है जिसमें सबसे ज्यादा दरभा इलाके के नक्सली शामिल हैं. सबसे खास बात ये हैं जो सरेंडर अब तक हुए हैं उनमें वे लोग शामिल हैं जो नक्सलियों की मुख्य ताकत कहलाते हैं. इस वजह से नक्सली मान रहे हैं कि उनकी ताकत दरभा इलाके में काफी कमजोर हो रही है.

गौरतलब है कि 25 मई 2013 को हुई नक्सली घटना के बाद उस इलाके में लगातार तीन घटनाओं ने पुलिस को खासा परेशान कर दिया था. जिसके बाद पुलिस ने मिशन 2016 की शुरुआत की. कुछ महीनों में ही मिशन 2016 के तहत मिली सफलता का परिणाम है कि नक्सली अब अपनी कमजोर होती ताकत को खुद स्वीकार रहे हैं. नक्सलियों के लिए जहां यह बड़ा झटका है तो वहीं पुलिस के लिए नक्सलवाद को खत्म करने की ये पहली सीढ़ी मानी जा रही है. उम्मीद की जा रही है कि 2016 के अंत तक दरभा इलाके से नक्सलवाद पूरी तरह से खत्म हो जाएगा.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.