लाइव टीवी

बुलबुल ने बढ़ाई बस्तर के किसानों की चिंता, फसल बर्बाद होने की आशंका

Vinod Kushwaha | News18 Chhattisgarh
Updated: November 6, 2019, 3:43 PM IST
बुलबुल ने बढ़ाई बस्तर के किसानों की चिंता, फसल बर्बाद होने की आशंका
बस्तर में रह-रह कर बदल रहे मौसम के मिजाज से बस्तर वासी तो परेशान हैं ही.

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के बस्तर (Bastar) के किसानों (Farmers) की चिंता इन दिनों बुलबुल तूफान (Bulbul Storm) की आहट ने बढ़ा दी है.

  • Share this:
बस्तर. छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के बस्तर (Bastar) के किसानों (Farmers) की चिंता इन दिनों बुलबुल तूफान (Bulbul Storm) की आहट ने बढ़ा दी है. बस्तर (Bastar) में रह-रह कर बदल रहे मौसम के मिजाज से बस्तर वासी तो परेशान हैं ही. साथ ही किसान भी काफी ज्यादा परेशान और चिंतित दिखाई दे रहे हैं. इस बार मानसून (Monsoon) की विदाई काफी देर बाद बस्तर से हुई, लेकिन मानसून के विदा होने के बाद भी मौसम के मिजाज नहीं बदले. अभी हाल ही में कयार तूफान से परेशान बस्तर के किसानों को राहत मिल पाती कि अब बुल बुल तूफान ने दस्तक दे दी है.

बस्तर (Bastar) के सहायक मौसम वैज्ञानिक एसके शौरी के मुताबिक अडंमान निकोबार में एक शक्तिशाली तूफान बुलबुल उठा है, जो तेजी से ओडिशा के पाराद्धीप पहुंचने वाला है. चूंकि ओडिशा बस्तर से सटा हुआ है. ऐसें में आने वाले दो तीन दिनों के भीतर बुलबुल से काफी ज्यादा बारिश होने की आशंका मौसम विभाग जता रहा है. इसके चलते ही किसानों की चिंता भी बढ़ गई है.

इस बात को लेकर चिंति​त हैं किसान
बस्तर के किसान हेमंत नागे का कहना है कि खेतों में खड़ी धान की फसल के बर्बाद होने की चिंता सता रही है. खेतों में इस समय धान की फसल कटने के लिए तैयार है, लेकिन मौसम के मिजाज को देखते हुए किसान परेशान हैं. किसान हेमंत नागे का कहना है कि बारिश के चलते खेतों में लगा हुआ धान की फसल पूरी तरह खराब हो जाएगी. ऐसे में किसानो को समझ ही नहीं आ रहा है कि वे क्या करें.

ये भी पढ़ें: CM भूपेश बघेल का शायराना ट्वीट- 'गर जंग लाज़मी है तो फिर जंग ही सही' 

मुंगेली में मंडी पहुंच रहे किसानों की बढ़ी परेशानी, लगाए ये आरोप 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बस्तर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 6, 2019, 3:43 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...