Bastar News: सीआरपीएफ जवान ने साथियों पर दागी गोली, एक की मौत, दो की हालत नाजुक

दो घायल जवानों को इलाज के लिए रायपुर लाया गया है.

दो घायल जवानों को इलाज के लिए रायपुर लाया गया है.

जगदलपुर (Jagdalpur) के केशलूर स्थित सीआरपीएफ कैंप में जवान ने अपने साथियों पर गोली चला दी. इसमें एक जवान की मौत हो गई है तो वहीं दो घायल हो गए हैं.

  • Share this:
जगदलपुर. छत्तीसगढ़ के बस्तर (Bastar) जिले एक फौजी ने अपनी ही साथी की जान ले ली. नक्सल प्रभावित बस्तर में एक बार फिर जवान ने अपने साथियों पर गोली (Shot Dead) चलाई है. जगदलपुर (Jagdalpur) के केशलूर स्थित सीआरपीएफ (CRPF) के कैम्प में शुक्रवार सुबह जवानों के बीच खूनी संघर्ष हुआ. गोली लगने से एक जवान की मौत हो गई तो वहीं दो जवान जिदंगी और मौत के बीच लड़ रहे हैं. जगदलपुर जिले के एएसपी ओपी शर्मा के मुताबिक, केशलूर के पास सीआरपीएफ 241वीं बटालियन का सेडवा में कैम्प स्थित हैं. इसी कैंप के जवान ने साथियों पर गोली चलाई है.

बताया जा रहा है जवान गिरीश कुमार मानसिक रूप से परेशान था. इसका किसी बात को लेकर अपने साथियों से विवाद हो गया. इसके बाद जवान गिरीश कुमार ने गुस्से में आकर अपनी ही बदूंक से अपने साथी जवानों पर ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी. कैम्प में गोली चलने की जैसे ही आवाज बाकी साथियों को सुनाई दी उसके बाद जवान मौके की तरफ दौड़े. इस घटना में एक जवान की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि गोली चलाने वाला जवान गिरिश कुमार और उसका एक अन्य साथी जो कि घायल है उसका नाम संतोष वाचम बताया जा रहा है.

Youtube Video


ये भी पढ़ें: Chhapra News: सीटी स्कैन सेंटर का उद्घाटन करने पहुंचे मंत्री जी, आते ही गुल हो गई बत्ती
तीनों बस्तरिया बटालियन के जवान

मतक जवान का नाम प्रमोद कुमार सोरी है. तीनों जवान बस्तरिया बटालियन के बताए जा रहे हैं. फिलहाल घायल जवानों को प्रारभिक उपचार के लिए जगदलपुर के मेडिकल कॉलेज लाया गया है. जहां से रायपुर इलाज के लिए जवानों को रायपुर इलाज के लिए भेजा गया है. घटना के बारें में अभी विस्तत जानकारी देने से आलाअधिकारी बच रहे हैं. हम आपको बता दें कि बस्तर में इस तरह की घटनाएं पिछले कुछ सालों से लगातार बढ़ रही है जब मानसिक रूप से परेशान जवान अपने ही साथियों के दुश्मन बन जा रहे हैं. इस बात को ध्यान में रखते हुए कुछ समय पहले सीआरपीएफ सहित प्रदेश के डीजी ने कैम्पों का दौरा कर जवानों को कई टिप्स भी दिए थे. साथ ही अधिकारियों को ये निर्देश दिए गए थे कि तरह की घटनाओं को रोकने के लिए उचित कदम उठाएं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज