• Home
  • »
  • News
  • »
  • chhattisgarh
  • »
  • कोरोना वायरस का डर: बस्तर में लोग कर रहे चिकन से परहेज, ठप पड़ा मार्केट

कोरोना वायरस का डर: बस्तर में लोग कर रहे चिकन से परहेज, ठप पड़ा मार्केट

कोरोना वायरस की दहशत में लोग चिकन खाने से भी परहेज कर रहे हैं. सांकेतिक फोटो.

कोरोना वायरस की दहशत में लोग चिकन खाने से भी परहेज कर रहे हैं. सांकेतिक फोटो.

चीन (China) में जानलेवा हो चुके नॉवेल कोरोना वायरस (Corona Virus) की दहशत छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में भी देखने को मिल रही है.

  • Share this:
बस्तर. चीन (China) में जानलेवा हो चुके नॉवेल कोरोना वायरस (Corona Virus) की दहशत छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में भी देखने को मिल रही है. ताजा मामला आदिवासी बाहुल्य बस्तर (Bastar) जिले का है. बस्तर के जिला मुख्यालय जगदलपुर (Jagadalpur) के चिकन मार्केट (Chicken Marcket) में इन दिनों ग्राहक कम ही नजर आते हैं. चिकन बेचने वालों का दावा है कि उनका धंधा मंदा हो गया है, क्योंकि लोगों को डर है कि चिकन या दूसरे मांसाहारी भोजन से भी कोरोना वायरस फैल सकता है. इसलिए ज्यादातर लोग चिकन खरीदने व खाने से परहेज कर रहे हैं.

बस्तर (Bastar) के चिकन व्यावसायियों से मिली जानकारी के मुताबिक पिछले 15 दिनों के दौरान चिकन की बिक्री आधे से भी कम हो गयी है. चिकन व्यवसायी आशीफ कुरेशी व भरत सिंह के मुताबिक चिकन की बिक्री काफी कम हो गई है. बस्तर के लोगों में कोरोना वाइरस का डर इतना है कि लोग अब चिकन खाने से परहेज कर रहे हैं. यही वजह है कि चिकन मार्केट में पूरी तरह से सन्नाटा पसरा रहता है.

खर्च निकला मुश्किल
व्यवसायी आशीफ बताते हैं कि हालत ये है कि दुकानों में काम करने वाले कर्मचारियों का खर्च निकालना भी मुश्किल हो गया है. कोरोना वाइरस की दहशत को कम करने के लिए केन्द्रीय पशुपालन मंत्री गिरिराज सिंह द्वारा जारी किए गए पत्र को व्यवसायियों ने अपनी दुकानों के बाहर चस्पा किया है. ताकि आने वाले लोगों को ये बता सकें कि चिकन की वजह से कोरोना वाइरस का कोई खतरा नहीं है. बावजूद इसके कोई फर्क नहीं पड़ रहा है.

कोरोना वायरस के लक्षण
छत्तीसगढ़ सरकार ने कोरोना वायरस को लेकर एडवाइजरी भी जारी कर है. इसमें बताया गया है कि अभी तक 2019 नाॅवेल कोरोना वायरस के जो लक्षण पाए गए हैं, उनमें तीव्र बुखार, खांसी और सांस लेने में दिक्कत प्रमुख है. अभी तक भारत में किसी भी केस की पुष्टि नहीं हुई है. भारत में संदिग्ध रोगियों की पहचान सर्वेलेंस से की जा रही है. इस वायरस के फैलने के माध्यम, साधन की स्पष्ट जानकारी नहीं है. यह एक नया विषाणु है और संभवतः यह पशुओं से उत्पन्न हुआ और अब यह मनुष्य से मनुष्य में फैल रहा है. 2019 नाॅवेल कोरोना वायरस कैसे एक मनुष्य से दूसरे मनुष्य में जाता है यह भी अभी स्पष्ट नहीं है. ऐसा माना जा रहा है कि संक्रमित व्यक्ति के खांसने या छींकने से यह फैलता है, उसी तरह जैसे सर्दी-जुकाम या फिर श्वास संबंधी रोग का कारण बनने वाले पैथेजन फैलाते हैं.

ये भी पढ़ें:
फेक एनकाउंटर के 144 मामलों की जांच कर रहा है 'टूथलेस टाइगर', 99 फीसदी मामलों में सरकार मानती है बात

छत्तीसगढ़ः कलेक्टरेट के सामने फरियादी ने सजाई खुद की चिता, आग लगाने ही वाला था कि तभी... 

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज