मानवता हुई शर्मसार: बारिश होती रहे और सड़क पर पड़ा रहा मानसिक रोगी युवक
Bastar News in Hindi

बारिश के दौरान जब मानसिक रोगी युवक सड़क पर पड़ा रहा तो उस दौरान उसके चारों ओर से लोग निकलते रहे. इतना ही नहीं सैकड़ों लोग तमाशबीन खड़े देखते रहे पर कोई भी मदद के लिए आगे नहीं आया.

  • Share this:
दंतेवाड़ा जिले के किरन्दुल बस स्टैंड में मानवता शर्मसार होती नजर आई. जहां बरसात के पानी में एक मानसिक रोगी युवक दिनभर पड़ा रहा.

बारिश के दौरान जब मानसिक रोगी युवक सड़क पर पड़ा रहा तो उस दौरान उसके चारों ओर से लोग निकलते रहे. इतना ही नहीं सैकड़ों लोग तमाशबीन खड़े देखते रहे पर कोई भी मदद के लिए आगे नहीं आया. इतना ही नहीं मानसिक रोगी का भाई एनएमडीसी किरन्दुल का कर्मचारी है और मानसिक रूप से ग्रसित होने पर छोटे भाई को पिछले कई सालों से घर से निकाल
दिया है, जो आज तक दर-दर की ठोकर खाते घूम रहा है.

एनएमडीसी कर्मचारी का भाई मानसिक रोगी है. दिमागी हालात ठीक न होने के कारन बड़े भाई ने उसे घर से भगा दिया है. ये मानिसक रोगी युवक भीख मांगकर अपना गुजारा करता है. दिनभर तेज़ बारिश में यह बस स्टैंड में पड़ा रहा. हजारों लोगों ने उसे देखा पर किसी ने इसकी मदद नही की. ऐसे ही कुछ दिन रहा तो यह बारिश में भीग-भीग कर मर सकता है.
स्थानीय प्रशासन, नवरत्न एनएमडीसी व एस्सार स्टील परियोजनाओं के होते हुए भी ऐसे लोगों के लिए अब तक कोई बंदोबस्त नहीं किया जा सका है.



स्थानीय निवासी निशु त्रिवेदी ने कहा कि हम कई बार इस युवक के भाई को बता चुके है लेकिन वो उसकी कोई खैर खबर नहीं लेता है. उन्हों्ने बताया कि ये युवक यही रहता है. यहां बहुत सारे एनजीओ काम कर रहे हैं लेकिन किसी ने उसकी सुध लेने की कोशिश नहीं की.

ईटीवी/प्रदेश18 का मकसद खबर दिखाना नहीं बल्कि लोगों को अपनी मानवीय संवेदना और जिम्मेदारी का एहसास करवाना है. ताकि आगे से हम और आप अपना मानवीय फर्ज अदा कर अपनी जागरूकता का परिचय दे सकें.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज