'महिलाओं पर शादी का दबाव बनाते हैं, नहीं मानने पर जबरदस्ती करते हैं नक्सली'

नक्सल संगठन में महिलाओं के साथ अत्याचार होता है. नक्सल संगठनों में पुरुष कैडर के प्रभुत्व के कारण कुछ महिलाओं ने आत्महत्या तक कर ली.

Vinod Kushwaha | News18 Chhattisgarh
Updated: February 14, 2019, 12:27 PM IST
'महिलाओं पर शादी का दबाव बनाते हैं, नहीं मानने पर जबरदस्ती करते हैं नक्सली'
Demo Pic.
Vinod Kushwaha | News18 Chhattisgarh
Updated: February 14, 2019, 12:27 PM IST
नक्सल संगठन में महिलाओं के साथ अत्याचार होता है. महिला नक्सलियों पर शादी का दबाव बनाया जाता है और अगर वो तैयार नहीं होती हैं तो उनके साथ जबरदस्ती की जाती है. नक्सल संगठनों में पुरुष कैडर के प्रभुत्व के कारण कुछ महिलाओं ने आत्महत्या तक कर ली. पार्टी में तमाम खामिया पैदा हो गई हैं. पैसा कमाने पर लोगों का जोर है. संगठन में गलत परंपराएं चल रही हैं. नक्सल संगठन से जुड़े इन तमाम बातों का खुलासा कुख्यात नक्सली सुधाकरण और उसकी पत्नी नीलिमा ने पुलिस के समक्ष आत्मसर्मण के दौरान किए.

छत्तीसगढ़ के बस्तर और झारखंड में लंबे समय तक नक्सल संगठन में सक्रिय रहे शीर्षथ नेता सुधाकरण ने अपनी पत्नी नीलिमा उर्फ अरुणा के साथ तेलंगाना पुलिस के समक्ष बीते बुधवार को समर्पण किया. समर्पण के बाद दोनों ने नक्सल गतिविधियों व विचारधारा को लेकर कई अहम खुलासे और दावे किए. दोनों का दावा है कि नक्सल संगठन में चल रही गलत परंपराओं और स्वास्थ्य समस्याओं के कारण उन्होंने यह मार्ग त्याग कर मुख्यधारा में जुड़ने का फैसला लिया.

सरेंडर नक्सली सुधाकरण और नीलिमा.

सुधाकरण के मुताबिक नक्सल संगठन में शीर्ष नेताओं के बीच अंदरूनी मतभेद हैं और स्थानीय आदिवासी नेताओं और तेलंगाना के नेताओं के बीच भी मतभेद है. बिहार और झारखंड में भाकपा (माओवादी) नेतृत्व के कामकाज क्रांतिकारी विचारधारा के विपरीत है और लोगों पर केन्द्रीत नहीं है. भाकपा (माओवादी) के कामकाज के स्तर में तेजी से गिरावट आने के बाद काफी संख्या में कैडर के लोग चरमपंथ छोड़ने के इच्छुक हैं.



बता दें कि तेलंगाना के निर्मल जिले का रहने वाला सुधाकरण साल 2001 से छत्तीसगढ़ और झारखंड में संगठन ऑपरेट कर रहा था. सेंट्रल कमेटी के सदस्य सुधाकरण के सिर पर झारखंड में 1 करोड़ और तेलंगाना में 25 लाख रुपये का इनाम था. तेलंगाना में नीलिमा के सिर पर 10 लाख का इनाम था. पिछले कुछ महीनों से सुधाकरण और उसकी पत्नी नीलिमा तेलंगाना पुलिस के संपर्क में थे और आत्मसमर्पण करना चाहते थे. सरेंडर के बाद तेलंगाना पुलिस ने दोनों के सिर पर घोषित इनाम की रकम उन्हें देने का वादा किया है.
ये भी पढ़ें: पुलिस के सामने सरेंडर नक्सली ने प्रधानमंत्री की हत्या की साजिश को लेकर किया ये खुलासा 
Loading...

ये भी पढ़ें: SIT के खिलाफ नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने दायर की जनहित याचिका 
ये भी पढ़ें: AK-47 के कारतूस और 5 लाख रुपये कैश के साथ बस्तर में पकड़ाया नक्सलियों का शहरी नेटवर्क 
एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...