आत्मसमर्पण कर चुके नक्सली रमेश का खुलासा, दिल्ली से चलता है नक्‍सलवाद

File Photo

नक्सलवाद देश का दिल कहे जाने वाले दिल्ली जैसे इलाके से संचालित हो रहा है. नक्सलवाद को संचालित करने वाले आका दिल्ली में बैठे हुए हैं. यह खुलासा किया है आत्मसमर्पित नक्सली रमेश ने.

  • Share this:
नक्सलवाद देश का दिल कहे जाने वाले दिल्ली जैसे इलाके से संचालित हो रहा है. नक्सलवाद को संचालित करने वाले आका दिल्ली में बैठे हुए हैं.

यह खुलासा किया है आत्मसमर्पित नक्सली रमेश ने. 2013 में नक्सल संगठन को छोड़कर मुख्यधारा में लौटे आत्मसमर्पित नक्सली रमेश ने ईटीवी/प्रदेश18 से एक्सक्लूसिव बातचीत में कहा कि भले ही छत्तीसगढ़ के बस्तर से नक्सलवाद कुछ समय के लिए कम हो जाए, लेकिन इसका पूरी तरह से खात्मा नहीं हो सकता. यह दोगुनी ताकत से दोबारा पनपेगा.

रमेश ने कहा कि बस्तर सहित देश के झारखंड, बिहार, उत्तरप्रदेश, ओडिशा, महाराष्ट्र, तेलगांना और आंध्र सहित दिल्ली में नक्सलवाद की जड़ें इतनी ज्यादा मजबूत हैं कि नक्सलवाद जैसे दानव का कभी खात्मा नहीं हो सकता. नक्सलवाद देश की राजधानी दिल्ली से संचालित हो रहा है. नक्सलवाद को संचालित करने वाले आका दिल्ली में बैठे हुए हैं.

रमेश ने कहा कि नक्सलवाद नक्स्लवाद कुछ समय के लिए कमजोर भले ही हो जाए, लेकिन खत्म नहीं हो पाएगा. रमेश ने खुलासा किया है कि माओवादी पूरे भारत में फैल चुके हैं. नक्सलवाद को खत्म करने की कोशिश की गई, तो माओवादी दूसरे देश से मदद लेकर हमला कर सकते हैं.

कुछ माओवादी संगठन के आला नेताओं के नाम लेते हुए रमेश ने खुलासा किया कि रामशंकर रेड्डी, कोसा, सतीश, राजमन, सुजाता जैसे दंडकारण्य जोनल स्पेशल कमेटी के मेम्बर हैं.

उल्लेखनीय है कि रमेश के बताने पर सुरक्षा बलों ने वर्ष 2008 में लगाए गए 50 किलो के आईईडी बम को रविवार को निकालकर डिफ्यूज किया.

 

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.