बस्‍तर जिले को नक्‍सलमुक्‍त करना पहली प्राथमिकता : एसपी डी. श्रवण

बस्‍तर जिले का केवल 20 प्रतिशत हिस्सा ही नक्सलग्रस्त है. हमारी कोशिश होगी कि जल्द से जल्द जिले के इस बीस प्रतिशत हिस्से को नक्सलमुक्त कर पूरे जिले में शांति कायम की जाए. यह कहना है जिले के नए एसपी डी. श्रवण का.

Vinod Kushwaha | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: January 13, 2018, 7:42 PM IST
बस्‍तर जिले को नक्‍सलमुक्‍त करना पहली प्राथमिकता : एसपी डी. श्रवण
न्‍यूज़18/ईटीवी से चर्चा करते हुए एसपी डी. श्रवण.
Vinod Kushwaha
Vinod Kushwaha | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: January 13, 2018, 7:42 PM IST
बस्‍तर जिले का केवल 20 प्रतिशत हिस्सा ही नक्सलग्रस्त है. हमारी कोशिश होगी कि जल्द से जल्द जिले के इस बीस प्रतिशत हिस्से को नक्सलमुक्त कर पूरे जिले में शांति कायम की जाए. यह कहना है जिले के नए एसपी डी. श्रवण का. उन्‍होंने शनिवार को जिले की कमान संभाल ली. उन्‍हें बिलासपुर स्‍थानांतरित आरिफ शेख की जगह बस्‍तर एसपी बनाया गया है.

कार्यभार ग्रहण करने के बाद जिला मुख्‍यालय जगदलपुर में न्‍यूज़18/ईटीवी से एक्सक्लूसिव बातचीत करते हुए डी. श्रवण ने कहा है कि उनकी पहली प्राथमिकता जिले को पूरी तरह से नक्सलमुक्त करने की होगी. कोरबा में जिम्मेदारी संभालने के बाद अब जगदलपुर जिले की जिम्मेदारी संभालते हुए एसपी डी. श्रवण ने कहा कि उनकी घर वापिसी हुई है.

दरसअल इससे पहले डी. श्रवण कोतवाली जगदलपुर, एसडीओपी केशकाल के साथ ही सुकमा और कोडागांव एसपी की जिम्मेदारी भी संभाल चुके हैं. सुकमा में उन्होंने दो साल तक काम किया. 2008 बैच के आईपीएस डी. श्रवण ने कहा कि जिले में कानून-व्यवस्था को मजबूत करने के साथ ही पुलिस और जनता के बीच मजबूत रिश्ता हो, इस बात का भी ख्याल रखा जाएगा. उन्‍होंने कहा कि समय-समय पर मीडिया से मिलने वाले सुझावों को भी अमल में लाने का काम पुलिस करेगी.

नवागत एसपी ने कहा कि बस्‍तर जिले में केवल 20 प्रतिशत हिस्सा ही नक्सलग्रस्त है. हमारी कोशिश होगी कि जल्द से जल्द जिले के इस बीस प्रतिशत हिस्से को नक्सलमुक्त कर पूरे जिले में शांति कायम की जाए.

माना जा रहा है कि पूर्व में सुकमा और कोडागांव की जिम्मेदारी संभाल चुके एसपी डी. श्रवण अपने पुराने कार्यानुभव के आधार पर बस्‍तर जिले में फिर से सिर उठा रही नक्सली गतिविधियों को रोक पाने में कामयाब होंगे.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर