नक्सलियों ने नुलकतोंग मुठभेड़ को बताया फर्जी, मारे गए 15 लोगों को कहा ग्रामीण

सुकमा में आॅपरेशन मानसून के तहत सुरक्षा बल के जवानों ने मुठभेड़ में 15 नक्सलियों को मार गिराने का दावा किया था.

Vinod Kushwaha | News18 Chhattisgarh
Updated: August 11, 2018, 5:02 PM IST
नक्सलियों ने नुलकतोंग मुठभेड़ को बताया फर्जी, मारे गए 15 लोगों को कहा ग्रामीण
प्रतीकात्मक तस्वीर.
Vinod Kushwaha | News18 Chhattisgarh
Updated: August 11, 2018, 5:02 PM IST
छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में हुए मुठभेड़ पर नक्सलियों ने सवाल खड़े किए हैं. नक्सली संगठन ने नुलकतोंग में हुए पुलिस-नक्सली मुठभेड़ को फर्जी बताया है. नक्सलियों ने मुठभेड़ में मारे गए 15 लोगों को ग्रामीण बताया है. सुकमा में आॅपरेशन मानसून के तहत सुरक्षा बल के जवानों ने मुठभेड़ में 15 नक्सलियों को मार गिराने का दावा किया था. गोलापल्ली और कोंटा थाना क्षेत्र के बीच हुई इस मुठभेड़ में सुरक्षा बल के जवानों ने 15 नक्सलियों के शव के साथ हथियार और अन्य नक्सल सामाग्री बरामद करने का दावा भी किया था.

मिली जानकारी के अनुसार दक्षिण बस्तर डिविजन ने एक विज्ञप्ति जारी की है. इस कथित सूची में नक्सलियों ने 5 अगस्त को नुलकतोंग इलाके में मारे गए लोगों की सूची जारी की है. सुरक्षा एजेंसियों ने मारे गए 15 लोगों को नक्सली बताया था. लेकिन नक्सलियों ने मारे गए सभी लोगों को ग्रामीण बताया है और इस पूरे मुठभेड़ को फर्जी करार दिया है. इस कथित लिस्ट में नक्सलियों ने मारे गए लोगों की उम्र और नाम का जिक्र किया है. इस मुठभेड़ को फर्जी करार देते हुए नक्सलियों ने 13 अगस्त को सुकमा बंद का आह्वान किया है. फिलहाल इस लिस्ट की कोई अधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है.

परिवार के सदस्यों की हत्या करने वाले बुजुर्ग का हत्यारा गिरफ्तार
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर