नक्सलवाद को खत्म करने के लिए तैयार किया जा रहा रोडमैप तैयार

बस्तर जिले से नक्सलवाद को खत्म करने के लिए राज्य पुलिस अब माओवादियों की मूवमेंट वाले इलाकों का रोडमैप तैयार कर रही है. इस रोडमैप को तैयार करने में इंटेलिजेंस अपनी भूमिका निभा रहा है.

Vinod Kushwaha
Updated: April 17, 2018, 3:42 PM IST
नक्सलवाद को खत्म करने के लिए तैयार किया जा रहा रोडमैप तैयार
बस्तर रेंज के आईजी विवेकानंद सिन्हा
Vinod Kushwaha
Vinod Kushwaha
Updated: April 17, 2018, 3:42 PM IST
छत्तीसगढ़ के बस्तर जिले से नक्सलवाद को खत्म करने के लिए राज्य पुलिस अब माओवादियों की मूवमेंट वाले इलाकों का रोडमैप तैयार कर रही है. इस रोडमैप को तैयार करने में इंटेलिजेंस अपनी भूमिका निभा रहा है. इस दौरान माओवादियों के ठिकाने को चिन्हांकित करने के लिए जमीन से आसमान तक गोपनीय तरीके से नजर रखी जा रही है.

माओवादियों के लिए तैयार हो रहे इस ब्लू प्रिंट में बस्तर संभाग के सभी जिलों में तैनात स्थानीय फोर्स के अलावा अर्धसैनिक बलों को भी इस रोडमैप पर काम करने के लिए कहा गया है. मालूम हो कि बस्तर में आए दिन होने वाले माओवादी धमाकों से सुरक्षाबलों को नुकसान पहुंच रहा है. ऐसे में माओवाद को प्रदेश से खत्म करने के मकसद से सुरक्षा एजेंसियां राज्य पुलिस के इशारे पर अब माओवाद प्रभावित इलाकों का खाका तैयार करने में जुट गई है. रिपोर्ट तैयार किए जाने के बाद ऑपरेशन का ब्लू प्रिंट तैयार किया जाएगा.

इस समय जंगल में पतझड़ का मौसम है. इस कारण जंगल में दूर दूर तक अंदरूनी गतिविधियां साफ दिखाई देती हैं. ऐसे में माओवादियों को अपनी पहचान छुपाना मुश्किल होता है. जवानों को जंगल के अंदर चलने के दौरान बूबी ट्रैप से बचने के तरीके के साथ ही मुख्य सड़क को छोड़कर छोटी छोटी पगडंडियों और बरसाती नालों का उपयोग करने के लिए कहा गया है.

ये पहला मौका है जब सुरक्षा एजेंसियां जंगल के भीतरी स्थानों का मैप तैयार करने में लगी है. अत्याधुनिक संसाधनों के बीच आसमान से नजर रखने के लिए जहां ब्लू प्रिंट को तैयार करने के लिए ड्रोन का सहारा लिया जा रहा है, तो वहीं इसके साथ ही जवानों को हल्के किस्म के यूएवी ड्रेान भी दिए जा रहे हैं. इसके माध्यम से फुटेज जुटाकर जंगल के अदंरूनी इलाकों के स्कैच बनाए जा सकेंगे. ऐसा माना जा रहा है कि इस नए प्लान से माओवादियों को घेरने में सुरक्षा एजेसियो को काफी मदद मिलेगी.

बहरहाल, माओवादियों के खिलाफ बनाए जा रहे इस ब्लू प्रिंट से सुरक्षाबल पूरी तरह से आश्वसत हैं और मान रहे हैं कि इससे कई बड़ी कामयाबी सुरक्षा बलों को मिल सकती है. बहुत जल्द नक्सलवाद पर भी लगाम लग सकता है.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर