vidhan sabha election 2017

माओवादियों के खात्मे के लिए सुरक्षा एजेंसियां रणनीति बनाने में जुटीं

Vinod Kushwaha | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: December 8, 2017, 3:58 PM IST
माओवादियों के खात्मे के लिए सुरक्षा एजेंसियां रणनीति बनाने में जुटीं
सांकेतिक चित्र
Vinod Kushwaha | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: December 8, 2017, 3:58 PM IST
छत्तीसगढ़ के बस्तर जिले से माओवादियों के खात्मे के लिए सुरक्षा एजेंसियां लगातार रणनीति बनाने में जुटी हुई हैं. इसी क्रम में आगामी साल 2018 में माओवादियों के खिलाफ किस तरह की रणनीति के तहत ऑपरेशन चलाए जाएंगे, इसकी समीक्षा की जा रही है.

आपको बता दें कि इसकी समीक्षा करने के लिए जगदलपुर के कोआर्डिनेशन सेंटर में शुक्रवार को प्रदेश के नक्सल ऑपरेशन के डीजी डी. एम.अवस्थी ने बस्तर संभाग के पुलिस अधिकारियों की अहम बैठक ली है. बैठक में 6 महीनों में बनने वाली रणनीति पर विचार विमर्श किया गया.

सुरक्षा कारणों के चलते आने वाले 6 महीनों के दौरान किस तरह का ऑपरेशन सुरक्षा बलों द्वारा बस्तर में
चलाया जाएगा, इस बारे में अभी खुलासा नहीं किया गया है. वहीं बैठक के खत्म होने के बाद मीडिया से मुखातिब डी. एम. अवस्थी ने कहा कि दिसंबर का महीना खत्म हो रहा है और साल 2017 में कितनी कामयाबी मिली इसकी समीक्षा करने के लिए ये बैठक बुलाई गई थी.

अवस्थी ने बीते साल 2015 और 2016 में मिली सफलता पर किसी भी तरह का टिप्पणी करने से इंकार कर दिया. उन्होंने कहा कि आगामी 1 जनवरी 2018 को इस बात का खुलासा किया जाएगा.

उन्होंने कहा कि बस्तर में पिछले एक साल के दौरान कितनी सफलताएं मिलीं, नक्सल ऑपेरशन की समीक्षा के लिए बुलाई गई रिव्यू मीटिंग में बस्तर संभाग के सातों जिलों के एसपी बस्तर रेंज के आईजी और डीआईजी समेत अन्य अधिकारी शामिल थे.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर