अपना शहर चुनें

States

एक महीने बाद भी पुलिस के हाथ खाली, जल्द ही खुलासे की जताई उम्मीद

नवागढ़ जिला सहकारी केंद्रीय बैंक में हुई चोरी के एक महीने बाद भी पुलिस के हाथ खाली
नवागढ़ जिला सहकारी केंद्रीय बैंक में हुई चोरी के एक महीने बाद भी पुलिस के हाथ खाली

छत्तीसगढ़ में बेमेतरा जिले के नवागढ़ जिला सहकारी केंद्रीय बैंक में बीते 21 दिसंबर को हुई 58 लाख 85 हजार रुपए की चोरी बेमेतरा पुलिस के लिए चुनौती बन गई है.

  • Share this:
छत्तीसगढ़ में बेमेतरा जिले के नवागढ़ जिला सहकारी केंद्रीय बैंक में बीते 21 दिसंबर को हुई 58 लाख 85 हजार रुपए की चोरी बेमेतरा पुलिस के लिए चुनौती बन गई है. घटना के एक महीने बाद भी पुलिस नतीजे तक पहुंचने में असफल रही है. आपको बता दें कि बीते 21 दिसंबर से नवागढ़ में लगातार एसपी से लेकर एएसपी का स्थाई डेरा लगा है.

इसके बाद भी मामले में कोई ठोस सुराग पुलिस के हाथ नहीं लग पाया है. सीसीटीवी फुटेज फिल्म की कहानी बन गई है, जो देखता है वह उलझकर रह जाता है. वहीं कुछ दिन पहले क्राइम ब्रांच की टीम के साथ बेमेतरा और नवागढ़ पुलिस बल के विशेषज्ञ नवागढ़ में घर-घर दस्तक दिए, लेकिन कोई संदिग्ध या अपराधी हाथ नहीं लगा.

वहीं घटना के बाद कोमा में गया चौकीदार गोपेंद्र कुलदीप आईसीयू से बाहर आ गया है, लेकिन उसे
पैरालिसिस का अटैक पड़ गया है. ऐसे में उसकी वापसी की गुंजाइश न के बराबर है. स्वास्थ्य में सुधार होने में समय लगेगा.
वहीं सुरक्षा के नाम पर कैमरा और लाइट लगाकर बैंक प्रबंधन ने भी मामले से पल्ला झाड़ लिया है. परिणाम यह है कि जान जोखिम में डालकर कोई वहां चौकीदारी नहीं करना चाहता. स्थिति यह है कि कोई चौकीदारी करने के लिए तैयार नहीं है.



वहीं नवागढ़ सहकारी बैंक में महीनेभर पहले हुई 59 लाख चोरी के मामले में बेमेतरा एसपी डी. के. गर्ग का कहना है कि मामले में कुछ भी नया नहीं है, टीम अभी भी अपनी जांच में जुटी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज