होम /न्यूज /छत्तीसगढ़ /

पुणे में झोपड़ी हादसे में दबकर मरने वालों में बेमेतरा के चार मजदूर शामिल

पुणे में झोपड़ी हादसे में दबकर मरने वालों में बेमेतरा के चार मजदूर शामिल

महाराष्ट्र के पुणे में हो रही लगातार बारिश छत्तीसगढ़ के चार लोगों की मौत का कारण बन गई है.  सांकेतिक फोटो.

महाराष्ट्र के पुणे में हो रही लगातार बारिश छत्तीसगढ़ के चार लोगों की मौत का कारण बन गई है. सांकेतिक फोटो.

महाराष्ट्र के पुणे में हो रही लगातार बारिश छत्तीसगढ़ के चार लोगों की मौत का कारण बन गई है. पुणे में लगातार बारिश से निर्माणाधीन बिल्डिंग ढह गई थी.

    महाराष्ट्र के पुणे में हो रही लगातार बारिश छत्तीसगढ़ के चार लोगों की मौत का कारण बन गई है. पुणे में लगातार बारिश से निर्माणाधीन बिल्डिंग ढह गई थी. बिल्डिंग का मलबा झोपड़ी पर गिरा था. मलबे में दबकर 15 लोगों की मौत हो गई. इनमें से चार बेमेतरा जिले के रहने वाले थे. खबर मिलते ही गांव में मातम का माहौल है. रोजगार की तलाश में चारों मजदूरी करने पुणे गए थे. पुणे से इनकी मौत की खबर प्रशासन के पास पहुंची है.

    मृतक बेमेतरा जिले के हाथाडॉडू के रहने वाले थे. मरने वालों में 2 महिला और 2 पुरुष शामिल हैं. सभी मृतकों के शवों को रायपुर लाया जाएगा, जिसे लेने के लिए जिला प्रशासन की टीम मृतकों के परिजानों के साथ जाएगी. मरने वालों में मृतक राधेलाल पटेल (25), ममता राधेलाल पटेल(22), जेतूलाल पटेल (50), प्रदेशनिन जेतूलाल पटेल (45) बताए जा रहे हैं.

    15 लोगों की हुई थी मौत
    बता दें कि महाराष्ट्र के पुणे में शनिवार को भारी बारिश के कारण एक आवासीय परिसर की 22 फुट ऊंची दीवार के उसके पास बनी झोपड़ियों पर गिरने से उनमें सो रहे चार बच्चों सहित 15 भवन निर्माण श्रमिकों की मौत हो गई और दो अन्य घायल हो गये थे. वहीं इस मामले में पुलिस ने दो भवन निर्माता कंपनियों के निदेशकों के खिलाफ गैर इरादातन हत्या का मामला दर्ज करके दो बिल्डरों को गिरफ्तार कर लिया है. महाराष्ट्र सरकार ने प्रत्येक मृतक के निकट परिजन को अनुग्रह राशि के तौर पर पांच लाख रुपये देने का ऐलान किया है.

    ये भी पढ़ें: यहां घर में बना रखा था प्राइवेट ZOO, छापे में मिले अजगर, सियार, हिरण समेत कई जंगली जानवर 

    ये भी पढ़ें: आम खाने को लेकर हुआ विवाद, फिर बच्चों ने पेचकस से कर दी साथी की हत्या 

    Tags: Accident, Chhattisgarh news, Pune

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर