धोखाधड़ी: कृषि मंत्री के इलाके में ही बिना लोन लिए 'कर्जदार' हो रहे किसान!

खास बात तो ये है कि दूसरे के जमीन पर लिए गए फर्जी कर्जा भी कर्ज माफी से माफ हो रहे है, लेकिन यहां बिना कर्ज लिए ही किसानों को कर्जदार बना दिया गया है.

Komal Singh Rajput | News18 Chhattisgarh
Updated: June 5, 2019, 5:23 PM IST
धोखाधड़ी: कृषि मंत्री के इलाके में ही बिना लोन लिए 'कर्जदार' हो रहे किसान!
demo pic
Komal Singh Rajput
Komal Singh Rajput | News18 Chhattisgarh
Updated: June 5, 2019, 5:23 PM IST
छत्तीसगढ़ में एक तरफ सरकार किसानों के कर्ज माफी की बात और किसानों के हित में हर तरह से फैसले लेने की बात कह रही है. वहीं दूसरी ओर बेमेतरा जिले में कृषि मंत्री रविंद्र चौबे के इलाका होते हुए भी किसानों के साथ जमकर छलावा हो रहा है. किसान बिना कर्ज लिए ही कर्जदार बन रहे है और मुनाफाखोर बैंक के कर्मचारियों के साथ में मिलीभगत कर रहे है. खास बात तो ये है कि दूसरे के जमीन पर लिए गए फर्जी कर्जा भी कर्ज माफी से माफ हो रहे है, लेकिन यहां बिना कर्ज लिए ही किसानों को कर्जदार बना दिया गया है.

ऐसे हो रहा किसानों के धोखा:

बेमेतरा जिला कृषि मंत्री रविंद्र चौबे का इलाका माना जाता है और जिला मुख्य तौर पर कृषि प्रधान रहा है. लेकिन इस इलाके में किसानों के नाम से पहले से ही फर्जी तरीके से लोन लेने का मामला सामने आ रहा है. बेमेतरा जिले में इसी तरह के एक ही दिन में 4 मामले सामने आए है जिसमें किसानों द्वारा लोन नहीं लेने के बाद भी किसी और व्यक्तियों द्वारा उनके नाम से लोन ले लिया गया है. किसानों का आरोप है कि खाद लेने जब हम जाते है तो लोन पटाने की बात हमसे कही जाती है. लोन हमने लिया ही नहीं है तो पटाने की बात हमसे क्यों कही जा रही है. इस गड़बड़ी से किसान काफी परेशान है प्रशासन के प्रति नाराजगी भी है.

ये है फर्जी लोन के मामले:

पहला मामला: महिला किसान लीलाबाई की नवागढ़ में जमीन है जिसके नाम से जिला सहकारी बैंक से 99 हजार का कर्जा कौडिया निवासी जगदीश द्वारा लेना बताया गया. इस बात की जानकारी तब हुई जब महिला खाद लेने झाल सोसायटी गई.

दूसरा मामला: सौगोना निवासी रामकुमार वर्मा का है जिसकी जमीन पर कारेसरा बैंक से 50 हजार का लोन दूसरे व्यक्ति द्वारा ले लिया गया है. अब बैंक लोन पटाने का दबाव भी बना रही है.

तीसरा मामला: गुनित राम जिसके नाम से भी नारायपुर के मारो ग्रामीण बैंक से 50 हजार की केसीसी लोन ले लिया गया है. इस लोन को अब बैंक पटाने को कह रही है. इसे लेकर किसान कलेक्टर-एसपी दफ्तर के चक्कर काट रहा है.
Loading...

चौथा मामला: सबलपुर के किसान राजू के नाम से रायपुर के एक बैंक से जेसीबी ले लिया गया है. जब इस बात की जानकारी किसान को लगी तो उसने पुलिस से शिकायत की. किसान का आरोप है कि पुलिस कार्रवाई के बजाय समझौता कराने का आशवासन देकर उसे लौटा दिया है.

जिम्मेदारों की दलील

इन सब मामले में आरोपी नामजद है फिर भी पुलिस कार्रवाई नहीं कर रही है. कोतवाली टीआई राजेश मिश्रा का कहना है कि नवागढ़ की लीलाबाई ने जमीन के नाम पर घोखाधड़ी की शिकायत की थी. महिला की शिकायत के बाद पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर लिया है और आगे की कार्रवाई कर रही है.

 

ये भी पढ़ें:

चौपाल में सीएम भूपेश बघेल से एक लड़की ने कहा- मुझे टीएस सिंहदेव का सचिव बनना है 

समझाइश देना पंच को पड़ा महंगा, युवक की कुल्हाड़ी मारकर की निर्मम हत्या 

VIDEO: मौसम विभाग के मुताबिक छत्तीसगढ़ के इन इलाकों में हो सकती है बारिश

रकम दोगुना करने का झांसा चिटफंड कारोबारी ने ऐसे की करोड़ों की ठगी 

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स      
First published: June 5, 2019, 5:18 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...