अपना शहर चुनें

States

उपजेल में बंदी के खुदकुशी मामले में मजिस्ट्रियल जांच के आदेश

बेमेतरा उपजेल.
बेमेतरा उपजेल.

छत्‍तीसगढ़ में बेमेतरा की उपजेल में विचाराधीन बंदी की आत्महत्या के मामले में कलेक्टर कार्तिकेय गोयल ने मजिस्ट्रियल जांच के आदेश दे दिए हैं.

  • Share this:
छत्‍तीसगढ़ में बेमेतरा की उपजेल में विचाराधीन बंदी द्वारा आत्महत्या किए जाने के मामले में कलेक्टर कार्तिकेय गोयल ने मजिस्ट्रियल जांच के आदेश दे दिए हैं.  मामले में 6 बिंदुओं पर जांच की जिम्मेदारी अनुविभागीय दंडधिकारी बेमेतरा डीएन कश्यप को सौंपी गई है. उनसे 30 दिनों के भीतर जांच प्रतिवेदन मांगा गया है.

आपको बता दें कि बेमेतरा उपजेल में बंदी लोकेश सतनामी ने गत गुरुवार रात उपजेल की बैरक नंबर तीन में लुंगी से फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली  थी. 19 वर्षीय लोकेश ग्राम बोड़ तहसील साजा का निवासी था. उसे नाबालिग से अनाचार के आरोप में गिरफ्तार किया गया था. आरोपी पर धारा 376,
366, 363 पाक्सो एक्ट के तहत प्रकरण दर्ज किया गया. उसे न्यायालय के आदेश पर 14 दिसंबर को उपजेल लाया गया था. बंदी को फांसी पर लटके देख अन्य बंदियों ने इसकी सूचना दुर्ग केंद्रीय जेल अधीक्षक को दी थी.

बीते दो सालों में जेल में कैदी की संदिग्ध हालत में मौत और जेल से कैदी के फरार होने जैसी यह पांचवीं घटना है. इस तरह की घटनाओं से जहां जेल की सुरक्षा और जेल प्रशासन की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़े हो रहे हैं. पूर्व के चार मामलों की भी जांच शुरू की गई थी, जो कि केवल खानापूर्ति बनकर रह गई. अब देखना होगा कि कलेक्टर के आदेश पर एसडीएम बेमेतरा द्वारा की जाने वाली जांच का कोई परिणाम निकलता है या नहीं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज