अपना शहर चुनें

States

खबर का असर: एक्सपायरी और नियर एक्सपायरी दवाइयों के जांच के आदेश

एक्सपायरी और नियर एक्सपायरी दवाइयों के जांच के आदेश
एक्सपायरी और नियर एक्सपायरी दवाइयों के जांच के आदेश

बेमेतरा जिले में खबर का असर हुआ है. जिला अस्पताल के गोदाम में लाखों की दवाइयां रखे रखे एक्सपायरी और नियर एक्सपायरी होने के एक्सक्लुसिव खबर दिखा जाने के बाद अब जिला कलेक्टर ने जांच के आदेश दिए हैं.

  • Share this:
छत्तीसगढ़ के बेमेतरा जिले में खबर का असर हुआ है. जिला अस्पताल के गोदाम में लाखों की दवाइयां रखे रखे एक्सपायरी और नियर एक्सपायरी होने के एक्सक्लुसिव खबर दिखाने के बाद अब अस्पताल प्रबंधन ने आनन फानन में गोदामों में पड़ी कालातीत हो रही दवाइयों को अब साजा, बेरला, खंडसरा और नवागढ़ के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में भेज दिया है.

वहीं दवाइयों के वितरण के बाद सालभर में हुई खरीदी को लेकर जांच किए जाने की तैयारी की जा रही है. कलेक्टर ने जांच के आदेश भी दे दिए हैं. बता दें कि ईटीवी ने बीते गुरुवार को खबर दिखाई थी, जिसमें जिला अस्पताल परिसर में किचन शेड से लगे 5 गोदामों और कमरों में ठूंस-ठूंस कर दवाइयों को रखा गया था. इसमें लाखों रुपए की दवाई खराब हो चुकी है, तो कई दवाई खराब होने की स्थिति में थी.

बगैर मांग किए दवाइयों की खरीदी किए जाने के बाद वितरण को लेकर लापरवाही बरती गई थी. इस कारण जरूरतमंद लोगों तक आवश्यक दवाइयां पहुंचे बिना ही खराब होने लगी थी. जानकारी के मुताबिक कमीशनखोरी के चक्कर में बिना मांग और क्रय समिति के अनुमोदन के ही लाखों की दवाइयों की खरीदी की गई जबकि सालों से दवाइयां स्टॉक में थी.



हैरानी की बात यह भी है कि अभी भी दवाइयों के स्टॉक की जानकारी जिला अस्पताल अधीक्षक को नहीं है. विभाग ने करीब 90 लाख रुपए की दवाइयों की खरीदी की थी, जिन्हें जिले के सभी उपस्वास्थ्य केंद्रों में पहुंचाना था. लेकिन दवाइयां रखे रखे ही खराब हो गईं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज