अपना शहर चुनें

States

बेमेतरा में पेट्रोलियम भंडार होने की संभावना, किया जा रहा सर्वे




यह बात गौर फरमाने योग्य है कि 0.75 फीसदी छूट जो मिलती है, वह आपको हर कैशलेस लेनदेन के माध्यम पर मिलेगी. फिर चाहे आप डेबिट कार्ड से भुगतान करें, या फिर भीम ऐप से.
यह बात गौर फरमाने योग्य है कि 0.75 फीसदी छूट जो मिलती है, वह आपको हर कैशलेस लेनदेन के माध्यम पर मिलेगी. फिर चाहे आप डेबिट कार्ड से भुगतान करें, या फिर भीम ऐप से.

सेटलाइट से मिली जानकारी के आधार पर गांवों में की जा रही तलाशी.

  • Share this:
छत्तीसगढ़ के बेमेतरा जिले में पेट्रोलियम भंडार होने की संभावना को देखते हुए गांवों का भूगर्भीय सर्वे किया जा रहा है. इसके लिए सेटलाइट से मिली जानकारी को आधार मानकर साजा, नवागढ़, बेरला और बेमेतरा तहसील के गावों में पहुंचकर सर्वे के जरिए संभावनाओं की तलाश की जा रही है.

बेमेतरा जिला 3 सालों से सुखे की मार झेल रहा है. लिहाजा जिला प्रशासन ने बोर करने पर प्रतिबंध लगा रखा है. जब भी कोई बोर गाड़ी दिख जाये तो शिकायतों की घंटी बजने लगती है. पर इन दिनों 1-2 नहीं बल्कि 20 बोर के वाहन जिले में घूम-घूम कर खुदाई कर रही. दरसल जिले में नेचुरल गैस की सम्भावना को देखते हुए केन्द्र सरकार द्वारा जिले के खेतों में खुदाई किया जा रहा है.

बेमेतरा में सेटेलाइट से मिली जानकारी के बाद ग्लोबल इकोलॉजिसटिक्स प्रा.लि अहमदाबाद की टीम द्वारा लगभग 16 से 20 बोरवेल वाहनों के माध्यम से किसानों के खेतों में खुदाई करके वहां के पत्थरों तथा मिट्टी की जांच मौके पर की जा रही है. वही दूसरी और किसानों के बिना जानकारी के उनके खेतों की खुदाई करने से किसान भी परेशान हो गए है और मामले की शिकायत एसडीएम से भी की है.



मामले में साजा एसडीएम एसएन साहु का कहना है कि खनन के लिए पूर्व कलक्टर कार्तिकेय गोयल ने 13 मार्च 2018 ने अनुमति जारी की थी. जिसमें जिले के साजा, बेरला, नवागढ़ और बेमेतरा विकासखंड के गांवों में भूकंपीय सर्वे के लिए खनन की अनुमति दी गई है. पत्र में राजस्व आपदा प्रबंधन विभाग मंत्रालय द्वारा 17 नवबर 2017 को जारी आदेश का हवाला दिया गया है. सर्वे के साथ-साथ जिला प्रशासन से सहयेाग और पुलिस द्वारा सुरक्षा मुहैया कराई जाएगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज