Assembly Banner 2021

भिलाई स्‍टील प्‍लांट को क्‍यों है एक लाख किलो बीफ की जरूरत?

बीफ को लेकर जहां पूरे देशभर में हंगामा मचा हुआ है वहीं भिलाई स्टील प्लांट ने विवादास्‍पद टेंडर जारी कर इसे और हवा दे दी है.

बीफ को लेकर जहां पूरे देशभर में हंगामा मचा हुआ है वहीं भिलाई स्टील प्लांट ने विवादास्‍पद टेंडर जारी कर इसे और हवा दे दी है.

बीफ को लेकर जहां पूरे देशभर में हंगामा मचा हुआ है वहीं भिलाई स्टील प्लांट ने विवादास्‍पद टेंडर जारी कर इसे और हवा दे दी है.

  • Share this:
बीफ को लेकर जहां पूरे देशभर में हंगामा मचा हुआ है वहीं भिलाई स्टील प्लांट ने विवादास्‍पद टेंडर जारी कर इसे और हवा दे दी है.

28 अक्टूबर को जारी किए गए टेंडर में छत्‍तीसगढ़ स्थित भिलाई स्‍टील प्‍लांट (बीएसपी) ने मैत्रीबाग चिडि़याघर के लिए एक लाख किलोग्राम बीफ (2 साल के लिए) की मांग की है.

बीएसपी प्रबंधन इस बीफ का इस्तेमाल चिडि़याघर में रहने वाले मांसाहारी वन्यप्राणियों के इस्तेमाल करना चाहता है. इसके लिए बकायदा सप्लायरों से 1 लाख रुपए अनुबंध राशि भी मांगी गई है. टेंडर 16 नवंबर को 10.30 बजे इस्पात भवन में खोला जाएगा. बीफ का उल्लेख 30 कंडिकाओं में 23वीं कंडिका में किया गया है, जिसमें बैल, बीफ और बिग एनिमल मीट का जिक्र है.



आपको बता दें कि बीफ को लेकर हो रहे हंगामे के बाद छत्तीसगढ़ में भी राज्य सरकार ने गोमांस खरीदने और उसके सेवन पर पाबंदी लगा दी है. इसके बावजूद बीएसपी सारे नियमों को दरकिनार कर मनमानीपूर्वक इसका टेंडर निकाल रही है.
माना जा रहा है कि बीएसपी के इस फैसले के खिलाफ अब शहर में सामाजिक संगठनों आंदोलन करने की तैयारी में है. विवाद बढ़ता देख इस मामले में बीएसपी के कोई भी अधिकारी कुछ भी कहने से साफ तौर पर बचते नजर आ रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज