होम /न्यूज /छत्तीसगढ़ /बीजापुर: अवैध खनन पर प्रशासन ने लगाई रोक, ग्रामीणों के मकानों में आ रहीं थी दरारें

बीजापुर: अवैध खनन पर प्रशासन ने लगाई रोक, ग्रामीणों के मकानों में आ रहीं थी दरारें

बीजापुर में अवैध खनन पर प्रशासन ने लगाई रोक

बीजापुर में अवैध खनन पर प्रशासन ने लगाई रोक

बीजापुर में 'की स्टोन इंफ्रा प्राइवेट लिमिटेड' नामक एक कंपनी द्वारा बफर (रिहायशी) जोन में किए जा रहे अवैध खनन पर प्रशास ...अधिक पढ़ें

    छत्तीसगढ़ के बीजापुर जिले में न्यूज़ 18 की खबर का असर हुआ है. लगातार 2 बार खबर दिखाए जाने के बाद 'की स्टोन इंफ्रा प्राइवेट लिमिटेड' नामक एक कंपनी द्वारा बफर (रिहायशी) जोन में किए जा रहे अवैध खनन पर प्रशासन ने रोक लगा दिया है. 'की स्टोन कंपनी' द्वारा किए जा रहे अवैध खनन से किसानों के 10 एकड़ फसल के साथ ही ग्रामीणों के घरों की दीवारों में बड़ी-बड़ी दरारें आ रहीं थी.

    बहरहाल, खनन पर प्रशासन ने रोक तो लगवा दिया, लेकिन अब ग्रामीणों की मांग है कि पिछले 5 सालों से चल रहे इस गोरखधंधे के कारण हुए नुकसान के एवज में उन्हें उचित  मुआवजा दिया जाए. बता दें कि जिला मुख्यालय से महज डेढ़ किलोमीटर की दूरी पर स्थित विधायक आदर्श ग्राम पंचायत इंटपाल के आश्रित गांव जैतालूर में पिछले 5 सालों से 'की स्टोन कंपनी' द्वारा बफर जोन में अवैध खनन किया जा रहा था.

    इस संबंध में न्यूज़ 18 में खबर दिखाए जाने के बाद प्रशासन हरकत में आया और इस गोरखधंधे को बंद करवा दिया. अब ग्रामीण न्यूज़ 18 को धन्यवाद दे रहे हैं. ग्रामीणों का कहना है कि पिछले 5 वर्षों से गांव में अवैध खनन किया जा रहा था. इस दौरान की स्टोन इंफ्रा प्राइवेट लिमिटेड कंपनी द्वारा जहां-जहां विस्फोट किया जा रहा था, वहां आस-पास के किसानों की 10 एकड़ से ज्यादा जमीन प्रभावित हो गई है. साथ ही उनके घरों में दरारें आ गईं हैं. इसके लिए ग्रामीणों ने कंपनी द्वारा मुआवजा राशि देने की मांग की है.

    ये भी पढ़ें:- बीजापुर: मिंगाचल नदी के किनारे लगेगा 34 करोड़ का बहुप्रतीक्षित वाटर प्लांट

    ये भी पढ़ें:- विधायक निवास के पास रोज जोखिम में रहती है बच्चों की जान, लापरवाह हैं जिम्मेदार!

    Tags: Bijapur news, Chhattisgarh news, Illegal Mining Racket

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें