बस्तर में बाढ़: गांव जा रहे 15 ग्रामीण नदी की धारा में फंसे, रेस्क्यू जारी

नाव से नदी पार कर 15 ग्रामीण अपने गांव जा रहे थे. इसी दौरान गुडरा नाले के टापू में वे फंस गए.

Mukesh Chandrakar | News18 Chhattisgarh
Updated: August 8, 2019, 5:48 PM IST
बस्तर में बाढ़: गांव जा रहे 15 ग्रामीण नदी की धारा में फंसे, रेस्क्यू जारी
नाव से नदी पार कर 15 ग्रामीण अपने गांव जा रहे थे. इसी दौरान गुडरा नाले के टापू में वे फंस गए.
Mukesh Chandrakar | News18 Chhattisgarh
Updated: August 8, 2019, 5:48 PM IST
छत्तीसगढ़ के बस्तर में भारी बारिश के चलते बीजापुर, सुकमा, कांकेर, कोंडागांव, दंतेवाड़ा जिले के कई इलाकों में बाढ़ के हालात हैं. लगातार बारिश के चलते नदी-नाले उफान पर हैं. एक ओर जहां सुकमा जिले के शबरी उफान पर है और झापरा पुल पर पानी आ गया है. जिसके कारण दो दर्जन गांव समेत ओडिशा से संपर्क टूट चूका है. वहीं बीजापुर के बारासूर में करीब 15 ग्रामीण बाढ़ में फंस गए हैं, जिनका रेस्क्यू जारी है.

नाव से नदी पार कर 15 ग्रामीण अपने गांव जा रहे थे. इसी दौरान गुडरा नाले के टापू में वे फंस गए. बीते बुधवार की रात 11 बजे से ग्रामीण फंसे हुए हैं. सभी ग्रामीण मंगनार गांव के रहने वाले बताए जा रहे हैं. रेस्क्यू के लिए टीम को प्रशासन द्वारा रवाना किया गया है. बीजापुर के भैरमगढ़ तहसीलदार विनोद साहू भी बारसूर पहुंच गए हैं. ग्रामीणों को सकुशल निकालने का हर संभव प्रयास प्रशासन द्वारा किया जा रहा है.

ग्रामीणों को रेस्क्यू करने टीम रवाना.


करना होगा पैदल सफर

मिली जानकारी के मुताबिक बारसूर में जिस जगह पर ग्रामीण फंसे हैं, वहां तक पहुंचने के लिए रेस्क्यू टीम को 5 किलोमीटर तक का पैदल सफर करना पड़ेगा. हालांकि रेस्क्यू टीम वहां के लिए निकल गई है. बोधघाट गांव से मंगनार नाव में वापस लौट रहे ग्रामीण भारी बारिश के चलते फंसे गए हैं. ग्रामीणों की सकुशल वापसी के लिए दंतेवाड़ा जिले से 15 सदस्यीय रेस्क्यू टीम रवाना हुई है.

जिला मुख्यालय से टूटा संपर्क
बस्तर में लगातार बारिश के चलते बीजापुर और सुकमा के दूरस्थ इलाकों का संपर्क जिला मुख्यालय से टूट गया है. सुकमा कलेक्टर चंदन कुमार ने बताया कि बाढ़ की स्थिति से निपटने के लिए प्रशासन अलर्ट मोड पर है. अलग अलग स्थानों पर राहत कार्य जारी हैं. बाढ़ को देखते हुए लोगों को भी सतर्क रहने की हिदायत दी गई है. सीमावर्ती इलाकों से आवाजाही बाढ़ की स्थिति देखते हुए ही शुरू करने के निर्देश दिए गए हैं. हर स्तर पर सतर्कता बरती जा रही है.
First published: August 8, 2019, 5:40 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...