लाइव टीवी

डेंगू पीड़ित की जान बचाने आधी रात ब्लड डोनेट करने पहुंचे ASP, न्यूज 18 की पहल पर की मदद
Bijapur News in Hindi

Mukesh Chandrakar | News18 Chhattisgarh
Updated: January 13, 2020, 12:05 PM IST
डेंगू पीड़ित की जान बचाने आधी रात ब्लड डोनेट करने पहुंचे ASP, न्यूज 18 की पहल पर की मदद
बीजापुर एएसपी ने संवेदनशीलता की मिसाल पेश की.

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के घोर नक्सल (Naxal) प्रभावित जिले बीजापुर (Bijapur) में एक पुलिस (Police) अफसर ने संवेदनशीलता का परिचय दिया है.

  • Share this:
बीजापुर. छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के घोर नक्सल (Naxal) प्रभावित जिले बीजापुर (Bijapur) में एक पुलिस (Police) अफसर ने संवेदनशीलता का परिचय दिया है. बीजापुर में पदस्थ एएसपी (ASP) को जब ये पता चला कि डेंगू (Dengue) से पीड़ित एक मरीज को अगर एक घण्टे के अंदर खून (Blood) नहीं मिला तो उसकी मौत भी हो सकती है. ऐसे में एएसपी आनन फानन में बगैर किसी सुरक्षा के ही जिला अस्पताल पहुंच गए और न सिर्फ ब्लड डोनेट (Blood donation) किया. बल्कि पीड़िता के परिजनों की आर्थिक सहायता भी की.

बीजापुर (Bijapur) जिला चिकित्सालय के आपातकालीन वार्ड में डेंगू जैसी जानलेवा बीमारी से पीड़ित एक आदिवासी ग्रामीण एडमिट है. गंगालूर के धुर नक्सल प्रभावित गांव कावडगांव का रहने वाला 28 साल का सुक्कू पूनेम 11 जनवरी की रात तेज बुखार से जिला चिकित्सालय में इलाज के लिए पहुंचा. इलाज के दौरान पता चला कि सुक्कू को डेंगू जैसी जानलेवा बीमारी ने अपने चपेट में ले लिया है.

Chhattisgarh
ब्लड डोनेट करते बीजापुर एएसपी.


न्यूज 18 की पहल



बीते 12 जनवरी की रात करीब 12 बजे बीजापुर के न्यूज 18 संवाददाता मुकेश चन्द्राकर के मोबाइलफोन पर जिला अस्पताल से ही एक कॉल आया, जिसमें अस्पताल के कर्मचारी द्वारा बताया गया कि कि खून की कमी से जूझते डेंगू के इस मरीज को अगर तत्काल खून नहीं दिया जाता है तो मरीज की मौत भी हो सकती है. इसके बाद संवाददाता ने फौरन रक्तदाताओं से संपर्क करना शुरू कर दिया. रात काफी हो जाने की वजह से कई रक्तदाता अस्पताल आकर ब्लड डोनेट करने से इंकार करते रहे. इसके बाद बीजापुर के उप पुलिस अधीक्षक मिर्जा जियारत बेग से संपर्क किया गया. मरीज की स्थिति का अंदाजा लगते ही एएसपी ब्लड डोनेट करने के लिए जिला अस्पताल के लिए निकल गए.

आर्थिक मदद भी की
एएसपी मिर्जा जियारत ने न केवल रक्तदान किया बल्कि मरीज की आर्थिक मदद भी की. रक्तदान करने के बाद एएसपी मिर्जा ने कहा कि मैं एक अधिकारी होने से पहले एक इंसान हूं और इंसानियत ही मेरा पहला धर्म है. आगे भी इस तरह की मदद के लिए वे तत्पर रहेंगे.

ये भी पढ़ें:
नए साल का तोहफा: सात हजार शिक्षाकर्मियों को जल्द नियमित करेगी सरकार 

मंत्रियों के साथ CM भूपेश बघेल ने देखी फिल्म छपाक, BJP पर लगाए ये आरोप 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बीजापुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 13, 2020, 12:05 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर