होम /न्यूज /छत्तीसगढ़ /'नक्सलगढ़' में छात्र राजनीति से मंत्री बने महेश गागड़ा क्या लगाएंगे जीत की हैट्रिक

'नक्सलगढ़' में छात्र राजनीति से मंत्री बने महेश गागड़ा क्या लगाएंगे जीत की हैट्रिक

महेश गागड़ा (फाइल फोटो)

महेश गागड़ा (फाइल फोटो)

लेकिन लगातार दो बार से अपनी जीत दर्ज करा रहे महेश गागड़ा को हराना कांग्रेस के लिए चुनौती साबित हो सकती है.

    छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव 2018 के नजीते 11 दिसंबर को सबके सामने होंगे. इस बार के चुनाव में सूबे की राजनीति के कई दिग्गजों की साख दाव पर है. छत्तीसगढ़ की कई हाई प्रोफाइल सीट में से एक बीजापुर में भी इस बार चुनावी घमासान काफी रोमांचक है. इस सीट पर भाजपा की टिकट से कैबिनेट मंत्री महेश गागड़ा चुनावी मैदान में है.

    महेश गागड़ा के खिलाफ कांग्रेस से दूसरी बार विक्रम मंडावी चुनावी मैदान में है. इस सीट को हथियाने कांग्रेस हर संभव कोशिश करती नजर आ भी रही है. इसी लिहाज से दूसरी बार विक्रम मंडावी को कांग्रेस ने टिकट देकर आदिवासी वोट बैंक पर कब्जा करने की कोशिश की है. लेकिन लगातार दो बार से अपनी जीत दर्ज करा रहे महेश गागड़ा को हराना कांग्रेस के लिए चुनौती साबित हो सकती है. अपनी लगातार जीत और विकास के मुद्दे के दम पर भाजपा अपनी जीत का दावा बीजापुर से कर रही है.

     

    बीजापुर सीट पर एक नजर

    दक्षिण छत्तीसगढ़ में मौजूद बीजापुर जिला नक्सल प्रभावी इलाके में आता है. छत्तीसगढ़ के कुल 27 जिलों में से एक बीजापुर जिले में पिछले दो चुनावों से भारतीय जनता पार्टी जीत दर्ज करती आई है. इस बार के विधानसभा चुनाव में भी बीजेपी की नज़र इस सीट पर जीत की हैट्रिक लगाने में है. 2013 विधानसभा चुनाव में इस एसटी सीट पर महेश गगड़ा ने जीत हासिल की थी. उन्होने कांग्रेस के विक्रम मंडावी को हराया था. 2008 से इस सीट पर भाजपा का कब्जा रहा. इस बार इस सीट पर भी मुख्य तौर पर टिक्कर भाजपा और कांग्रेस में ही देखी जा रही है.

     

    बीजापुर सीट का चुनावी समीकरण:

    2003 विधानसभा चुनाव के नतीजे

    राजेंद्र पामभोई, कांग्रेस, कुल वोट मिले 15917

    राजाराम तोडम, बीजेपी, कुल वोट मिले 13196

     

    2008 विधानसभा चुनाव के नतीजे

    महेश गगड़ा, बीजेपी, कुल वोट मिले 20049

    राजेंद्र पमभोई, कांग्रेस, कुल वोट मिले 9528

     

    2013 विधानसभा चुनाव के नतीजे

    महेश गगड़ा, बीजेपी, कुल वोट मिले 29578

    विक्रम मांडवी, कांग्रेस, कुल वोट मिले 20091

     

    जानिए महेशा गागड़ा से जुड़ी खास बातें:

    छात्र जीवन से ही राजनीति महेश गागड़ा का रूचि का विषय रहा है. जनता के प्रति उनके समर्पण और उनके प्रति संवेदना से ही उन्हें अपने क्षेत्र में लोकप्रियता दिलाई. कॉलेज के दिनों से ही महेश गागड़ा अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् के सदस्य रहे. साल 1992 से 1994 तक सह जिला संयोजक जिला दंतेवाड़ा की पद पर रहे. 1994 से 1998 तक विद्यार्थी परिषद् के बस्तर विभाग प्रमुख रहे. जमीनी स्तर पर किए बेहतर कार्यों के लिए ABVP के प्रदेश सह-मंत्री का भी दायित्व उनको मिला.

    महेश गागड़ा कॉलेज भारतीय जनता युवा मोर्चा के सदस्य बने और राज्य-राष्ट्रीय स्तर पर विभिन्न दायित्वों को निभाया. 2004 महेश गागड़ा में उन्होने दंतेवाड़ा से पहली बार चुनाव लड़ा और जिला पंचायत दंतेवाड़ा में सदस्य चुने गए. 2008 में बीजापुर विधानसभा से निर्वाचित होकर सबसे कम उम्र के विधायक बने. साल 2013 के विधानसभा चुनाव में भी बीजापुर सीट से उन्होने जीत हासिल की. साल 2015 में छत्तीसगढ़ शासन में मंत्री परिषद् के सदस्य बने और वन एवं विधि विधायी कार्य विभाग का दायित्व मिला.

    ये भी पढ़ें:

    इस हाईप्रोफाइल सीट पर भाजपा की जीत को रोक पाएंगे कांग्रेस के महंत? 

    Tags: Assembly Election 2018, Assembly elections, Assembly Elections 2018, Bijapur district, Bijapur news, Chhattisgarh Assembly Election 2018, Chhattisgarh news, Raipur news

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें