...जब बैरिकेड तोड़ कलेक्‍टर ऑफिस में घुसे 50 गांव के ग्रामीण, देखें Video

कलेक्टर ने गांव वालों का आश्वासन दिया है कि दो दिनों के भीतर इन सभी लोगों को नकद भुगतान कर दिया जाएगा.
कलेक्टर ने गांव वालों का आश्वासन दिया है कि दो दिनों के भीतर इन सभी लोगों को नकद भुगतान कर दिया जाएगा.

मामला छत्तीसगढ़ के बीजापुर स्थित डीएम ऑफिस (DM Office) का है. लगभग 50 गांव के निवासी अपनी मांगों के साथ कलेक्टर कार्यालय पहुंचे थे.

  • Share this:
बीजापुर. छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के बीजापुर (Bijapur) जिले में एक बड़ी खबर सामने आई है, जहां बड़ी तादाद में लोगों की भीड़ जबरन कलेक्टर कार्यालय में घुस गई. इस दौरान सुरक्षा में खड़े पुलिसकर्मियों ने भीड़ को रोकने की काफी कोशिश की पर कोई सुनने को तैयार नहीं था. आक्रोशित भीड़ के सामने पुलिस बेबश और लाचार दिखी. इसके साथ ही सैकड़ों लोगों की भीड़ ने बैरिकेडिंग को तोड़ दिया और शोर मचाते हुए डीएम ऑफिस में घुस गए. अब इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया (Social Media) पर बहुत तेजी से वायरस हो रहा है.

जानकारी के मुताबिक, मामला छत्तीसगढ़ के बीजापुर स्थित डीएम ऑफिस (DM Office) का है. दरअसल, लगभग 50 गांव के निवासी अपनी मांगों के साथ कलेक्टर कार्यालय पहुंचे थे. कहा जा रहा है कि अपनी मांगों को लेकर चेरपाल गांव से 25 किलोमीटर की पैदल दूरी तय करने के बाद ये लोग डीएम कार्यालय के पास पहुंच थे.
...और तोड़ दिया बैरिकेड्सजैसे ही भीड़ डीएम कार्यालय के पास पहुंची तो वहां पर पहले से भारी संख्या में पुलिसकर्मी बैरिकेड्स लगाकर खड़े थे, लेकिन भीड़ के सामने उनकी एक न चली. ग्रामीण बैरिकेड को तोड़ते हुए डीएम कार्यालय में प्रवेश कर गए. ये लोग तेंदू पत्ते के संग्रह के लिए नकद भुगतान की मांग कर रहे थे.

कलेक्‍टर के आश्‍वासन पर हुए शांत
कलेक्टर ने गांव वालों का आश्वासन दिया है कि दो दिनों के भीतर सभी लोगों को नकद भुगतान कर दिया जाएगा. प्रदर्शनकारियों का कहना है कि अगर ऐसा नहीं हुआ तो वे लोग फिर से विरोध प्रदर्शन करेंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज