लाइव टीवी

छत्तीसगढ़ नगरीय निकाय चुनाव: बीजापुर में बागी बढ़ा सकते हैं BJP की चिंता

Mukesh Chandrakar | News18 Chhattisgarh
Updated: December 12, 2019, 12:49 PM IST
छत्तीसगढ़ नगरीय निकाय चुनाव: बीजापुर में बागी बढ़ा सकते हैं BJP की चिंता
बीजापुर में बीजेपी के बागियों ने पार्टी के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है. सांकेतिक फोटो.

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के बीजापुर (Bijapur) नगर पालिका के 15 वार्डों में से 6 में बीजेपी (BJP) के बागी निर्दलीय चुनाव (Election) लड़ रहे हैं.

  • Share this:
बीजापुर. चुनाव चाहे लोकसभा (Lok Sabha) हो, विधानसभा (Assembly) हो या निकाय चुनाव (Election). बागी कार्यकर्ता हमेशा राजनैतिक पार्टियों के लिए सिर दर्द का सबब बन जाते हैं. ऐसे ही हालात बीजापुर (Bijapur) में भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janata Party) के साथ हो रहा है. नगरीय निकाय चुनाव (Urban body elections) के लिए बीजेपी (BJP) द्वारा बीजापुर में किये गये टिकट वितरण के बाद पार्टी में घमासान मचा हुआ है. टिकट वितरण के बाद वार्ड क्रमांक 13 से टिकट की मांग कर रहे बीजेपी के सबसे पुराने कार्यकर्ताओं में से एक संतुदास मानिकपुरी पार्टी से इस्तीफा देकर निर्दलीय चुनाव लड रहे हैं.

28 सालों से बीजेपी (BJP) के सक्रिय सदस्य रहे संतुदास मानिकपुरी मंडल अध्यक्ष जैसे महत्वपूर्ण पद पर भी रह चुके हैं. संतु का आरोप है कि साजिश के तहत उनका टिकट काटकर एक ऐसे प्रत्याशी को टिकट दिया गया है, जिसका वार्ड में बिल्कुल भी जनाधार नहीं है. वहीं वार्ड क्रमांक-5 से बीजेपी ने जेम्स साहिल तिग्गा को अपना प्रत्याशी बनाया था. तिग्गा ने ये कहकर बीजेपी के चुनाव चिह्न से चुनाव लड़ने से साफ इंकार कर दिया कि वो बीजेपी के कार्यकर्ता ही नहीं हैं. बाद में बीजेपी को वार्ड क्रमांक 5 से दूसरे प्रत्याशी को मैदान में उतारना पड़ा.

इन वार्डों का भी यही हाल
बीजापुर के वार्ड क्रमांक 10 में भी ऐसी ही स्थिति देखने को मिली. वार्ड क्रमांक 10 से बीजेपी ने पार्टी के वरिष्ठ कार्यकर्ता सुनील कुमार साहू को मैदान में उतारा था, मगर वार्ड क्रमांक 9 में एक डमी कैंडिडेट को टिकट दिये जाने के कारण सुनील ने अपने पूरे 22 कार्यकर्ताओं के साथ पार्टी से इस्तीफा दे दिया. अब वे निर्दलीय ही वार्ड क्रमांक 10 से चुनावी मैदान में हैं. वार्ड क्रमांक 9 से बीजेपी की कार्यकर्ता बसंती नाग ने भी बागी तेवर दिखाते हुए निर्दलीय ही चुनावी मैदान में उतर आयी हैं. वहीं पार्टी से टिकट की मांग कर रहे युवा नेता अरविंद पुजारी भी टिकट नहीं मिलने से नाराज होकर बगावत की बिगुल बजाते हुए वार्ड क्रमांक 2 से निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में चुनावी मैदान में हैं. वहीं बात करें वार्ड क्रमांक 15 की तो वहां भी टिकट नहीं मिलने से नाराज होकर पार्टी के वरिष्ठ कार्यकर्ता श्रीनिवास रेडडी ने निर्दलीय चुनावी मैदान में उतर आये हैं. ऐसे में बीजापुर नगर पालिका परिषद के 15 वार्डों में से 6 वार्ड में बीजेपी के लिए बगावती तेवर का सामना करते हुए चुनावी राह सफर करना आसान नजर नहीं आ रहा है.

नहीं होगा ​कोई नुकसान
बीजापुर बीजेपी के जिलाध्यक्ष श्रीनिवास मुदलियार का कहना है कि बगावती तेवर दिखाने वाले सभी कार्यकर्ता पहले भी पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल रहे हैं. उनके पार्टी से इस्तीफा देने या निर्दलीय चुनाव लड़ने से बीजेपी को किसी तरह नुकसान नहीं होगा. साथ ही जिलाध्यक्ष मुदलियार का दावा है कि 15 में से 10 सीटों पर बीजेपी जीत दर्ज करेगी. वहीं कांग्रेस जिलाध्यक्ष लालू राठौर का कहना है कि बीजेपी के कुकर्माें की सजा उसे इस निकाय चुनाव में मिली है. कांग्रेस का भी दावा है कि वो 10 सीटों पर जीत का परचम लहराएगी.

ये भी पढ़ें:शादी का प्रलोभन देकर युवती से रेप, जुर्म दर्ज होने के 15 दिन बाद भी नहीं पकड़ा गया आरोपी 

महज 500 रुपये के लिए प्रेमी ने कर दी प्रेमिका की हत्या, ऐसे सुलझी अंधे कत्ल की गुत्थी 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बीजापुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 12, 2019, 11:34 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर