लाइव टीवी

Exclusive: नक्सलियों का दावा- चुनाव में खलल डालने 97 KG बारूद से बीजापुर में CRPF पर किया था हमला!

Mukesh Chandrakar | News18 Chhattisgarh
Updated: January 15, 2020, 7:46 AM IST
Exclusive: नक्सलियों का दावा- चुनाव में खलल डालने 97 KG बारूद से बीजापुर में CRPF पर किया था हमला!
नक्‍सलियों ने मुर्दोण्डा हमले को लेकर कथित तौर पर 5 पेजों की लिखित समीक्षा रिपोर्ट जारी की है. (File Photo)

छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव (Chhattisgarh Assembly Election) के दौरान 27 अक्टूबर 2018 को बीजापुर के बासागुड़ा मार्ग पर स्थित मुर्दोण्डा कैंप के पास नक्सलियों ने हमला किया था.

  • Share this:

बीजापुर. छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव (Chhattisgarh Assembly Election) के दौरान 27 अक्टूबर 2018 को बीजापुर (Bijapur) के बासागुड़ा मार्ग पर स्थित मुर्दोण्डा कैंप के पास हुए नक्सली हमले (Naxalite Attack) को लेकर एक बड़ा खुलासा हुआ है. हमले के ठीक एक साल बाद नक्सलियों द्वारा की गई समीक्षा की कथित रिपोर्ट में कई दावे किए गए हैं. नक्सलियों के पीएलजी चेतना प्रचार बुकलेट में प्रकाशित मुर्दोण्डा डेलीब्रेट एंबुश समीक्षा रिपोर्ट में नक्सलियों ने इस घटना से जुड़े सकारात्मक और नकारात्मक दोनों पहलुओं पर समीक्षा की है. विधानसभा चुनाव में खलल डालने के लिए नक्सलियों ने ये वारदात की थी.


बीजापुर के मुर्दोण्डा हमले के लिए 5 पेजों की लिखित समीक्षा रिपोर्ट में नक्सलियों ने लिखा है कि इस घटना को अंजाम देने के लिए कुल 97 किलोग्राम बारूद का उपयोग किया गया था. इस पूरी वारदात को 30 नक्सलियों ने अंजाम दिया था, जिसके लिए लगातार चार दिनों से मुर्दोण्डा कैंप से लेकर बासागुड़ा तक रेकी की जाती रही. नक्सलियों द्वारा किए गए इस हमले में सीआरपीएफ 168 बटालियन के 4 जवान शहीद हो गए थे. हमले में दो जवान घायल भी हुए थे.

chhattisgarh news, cg news, narayanpur news, IED blast,  IED blast in narayanpur,  Naxalite IED blast, Naxalite, chhattisgarh panchayat election, panchayat election 2019, Naxalite blast in narayanpur, naxali, naxali attack, छत्तीसगढ़ न्यूज, सीजी ब्रेकिंग न्यूज, नक्सली, आईईडी ब्लास्ट, नारायणपुर में आईईडी ब्लास्ट, आईईडी ब्लास्ट में एक जवान घायल, नक्सली हमला, नारायणपुर में नक्सली हमला, नक्सली हमले में जवान घायल, ITBP
बीजापुर में नक्सलियों ने अक्टूबर 2018 में सीआरपीएफ काफिले पर हमला किया था. (demo pic)


ऐसे दिया वारदात को अंजाम

गौरतलब है कि विधानसभा चुनाव के ठीक पहले नक्सलियों ने 27 अक्टूबर 2018 को गश्त पर निकले सीआरपीएफ के 168 बटालियन के जवानों पर हमला किया था. नक्सलियों द्वारा किए गए इस बारूदी हमले में बख्तरबंद वाहन को उड़ाया गया था. नक्सलियों की कथित रिपोर्ट में दावा किया गया है कि इस घटना को अंजाम देने के लिए 23 अक्टूबर की रात को तकरीबन 12:30 बजे 10 माओवादियों ने जिलेटिन और कॉर्डेक्स मिश्रित 97 किलो बारूद बिछा रखा था और उसके बाद 24 से लेकर 26 अक्टूबर तक लगातार जवानों पर नजर रखी गई और कैंप के आसपास रेकी की गई. घटना के दिन 27 अक्टूबर को भी सुबह से ही रेकी करने के बाद तकरीबन 3 बजे रेकी करने वाली नक्‍सली टीम की सूचना पर बारूदी सुरंग बिछाए गए.

ये हुए थे शहीद
कथित समीक्षा रिपोर्ट के मुताबिक, घटनास्थल पर सड़क के एक छोर में 30 नक्सलियों द्वारा एंबुश लगाया गया और जैसे ही पैदल गश्त पर निकले जवान वापस कैंप लौट चुके थे तभी 6 जवानों को लेकर कैम्प की ओर वापस जा रहे बख्तरबंद वाहन को विस्फोट कर उड़ा दिया गया. इस हमले में एएसआई मीर मतिउर रहमान, हेड कांस्टेबल बीएम बेहरा, चट्टी प्रवीण और गुल्ली पुल्ली श्रीनू शहीद हो गए थे.वारदात के संबंध में CRPF 168 बटालियन के सीओ वीके चौधरी का कहना है, 'नक्सलियों ने इस खूनी खेल को अंजाम देने के लिए L टाइप बारूदी सुरंग का इस्तेमाल किया था. वारदात को अंजाम देने के लिए पामेड़ इलाके में सक्रिय प्लाटून नंबर 9 के हार्डकोर माओवादियों के साथ ही स्थानीय मिलिशिया के तीन दल भी माओवादियों के एम्बुश में शामिल रहे. इस पूरी वारदात का मास्टरमाइंड प्लाटून नंबर 9 का कमांडर विज़्ज़ा था. चौधरी बताते हैं कि विस्फोट के तुरंत बाद घायल एक जवान ने बहादुरी से मोर्चा संभाला. यही वजह है कि हमारे दो जवानों के साथ ही कुछ हथियार भी बच गए. उनके मुताबिक इस घटना में हथियारबंद माओवादियों के साथ कुल 100 नक्‍सली शामिल थे.

ये भी पढ़ें:
CAA पर बवाल के बीच छत्तीसगढ़ पहुंचा बांग्लादेशी घुसपैठिया, पुलिस ने पकड़ा 

'CAA को समझाने राहुल गांधी को इटालियन भाषा में भेजी जाएगी बिल की कॉपी'

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बीजापुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 15, 2020, 5:38 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर