होम /न्यूज /छत्तीसगढ़ /बीजापुर में स्कूली बच्चों के भविष्य के साथ हो रहा खिलवाड़, ये है वजह

बीजापुर में स्कूली बच्चों के भविष्य के साथ हो रहा खिलवाड़, ये है वजह

बीजापुर में निजी स्कूलों का हाल

बीजापुर में निजी स्कूलों का हाल

बीजापुर जिले में संचालित 33 नीजी स्कूल शिक्षा के अधिकार कानून की धज्जियां उढ़ा रहे है. ये निजी स्कूल नौनिहालों के भविष्य ...अधिक पढ़ें

    छत्तीसगढ़ के बीजापुर जिले में संचालित 33 नीजी स्कूल शिक्षा के अधिकार कानून की धज्जियां उढ़ा रहे है. ये निजी स्कूल नौनिहालों के भविष्य ही नहीं बल्कि जान के साथ भी खिलवाड़ कर रहे है. इधर शिक्षा विभाग के अधिकारी मूक दर्शक बन नौनिहालों के भविष्य और जान के साथ खिलवाड़ करने वाले स्कूलों को संरक्षण देते नजर आ रहे है.

    सरकारी स्कूलों में फैली अव्यवस्था और लापरवाही से तंग आकर माता-पिता अपने बच्चे के बेहतर भविष्य के लिए भारी भरकम फीस चुका कर नीजी स्कूलों में दाखिला करवाते है. सरकारी स्कूलों की तरह ही निजी स्कूलों को भी शिक्षा के अधिकार क़ानून का पालन करना होता है. लेकिन बीजापुर में संचालित निजी स्कूलों की मनमानी कर रहे है. न्यूज 18 की टीम ने जिला मुख्यालय में ही संचालित 4 स्कूलों का दौरा किया. इस दौरान चौकाने वाला तथ्य सामने आए.

    बीजापुर के ह्रदय स्थल में संचालित सरस्वती शिक्षा मंदिर का भवन किसी तबेले से कम नहीं है. एवर ब्लूमिन्ग स्कूल में कुछ कक्षाओं में बच्चों का भविष्य खंडहर में गढ़ा जा रहा था. वहीं इसी स्कूल में कुछ बच्चे धुल से भरे कक्षा में पढ़ने को मजबूर दिखे. अधिकांश कक्षाओं में शिक्षक नदारद मिले. बच्चों ने बताया कि वो समय पर स्कूल की फीस चुकाते है मगर उनको वैसी सुविधाएं मुहैय्या नहीं कराई जाती है जिसके वो हकदार है. इधर निजी स्कूल के संचालक भी स्वीकार कर रहे हैं कि उनके द्वारा संचालित स्कूल शिक्षा के अधिकार क़ानून के मापदंडों पर खरा नहीं उतरते.

    निजी स्कूलों की मॉनिटरिंग का ज़िम्मा जिस विभाग का होता है उस विभाग के अधिकारी यानी कि जिला शिक्षा अधिकारी का भी अपना अलग तर्क है. जिला शिक्षा अधिकारी प्रमोद ठाकुर का कहना है कि जिले में जितने भी निजी स्कूल संचालित है सभी स्कूलों को मान्यता देने से पहले हर साल नोडल अधिकारियों द्वारा प्रतिवेदन मंगाया जाता है और स्कूल की जांच कराई जाती है. उसके बाद ही स्कूलों को मान्यता मिलती है. जिले में जितने भी स्कूल संचालित है सभी मापदंडो को पूरा कर रहे है इसलिए वे संचालित किए जा रहे है.

    ये भी पढ़ें:

    कैग की रिपोर्ट ने स्वास्थ्य विभाग के 'बेहतरीन प्रयासों' की उड़ाई धज्जियां, ये खुलासे आए सामने

    CBI पर बैन लगाकर भ्रष्टाचार और लूट की तैयारी में कांग्रेस: भाजपा 

    मिस यूनिवर्स का खिताब हासिल कर लोगों की आवाज बनना चाहती है पूजा 

    दंतेवाड़ा में मीडिया टीम पर हमला करने वालों में शामिल तीन लाख का इनामी नक्सली गिरफ्तार 

    एक्शन मोड में हैं भूपेश सरकार, आयोग और मंडल से संबंधित लिया ये निर्णय 

    एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स   

    Tags: Bijapur district, Bijapur news, Chhattisgarh news, Private School

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें