Home /News /chhattisgarh /

दो महिलाओं समेत 23 नक्‍सलियों ने किया आत्‍मसमर्पण

दो महिलाओं समेत 23 नक्‍सलियों ने किया आत्‍मसमर्पण

सरेंडर करने वाले माओवादियों ने बकायदा वोटर आईडी, राशनकार्ड, आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस और बैक में खाता भी खोलकर रखा हुआ है

सरेंडर करने वाले माओवादियों ने बकायदा वोटर आईडी, राशनकार्ड, आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस और बैक में खाता भी खोलकर रखा हुआ है

सरेंडर करने वाले माओवादियों ने बकायदा वोटर आईडी, राशनकार्ड, आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस और बैक में खाता भी खोलकर रखा हुआ है

    जगदलपुर के पुलिस क्वाआर्डिनेशन सेंटर में रविवार को 23 माओवादियों ने पुलिस और कलेक्टर से समक्ष आत्मसमर्पण किया है.

    बताया जा रहा है कि ईस्ट बस्तर डिवीजन कमेटी के 14 और दरभंगा डिवीजन कमेटी के नौ माओवादियों ने सरेंडर किया है. इनमें चार माओवादियों पर तीन-तीन और दो एक-एक लाख रुपए का इनाम घोषित था. ये पहला मौका है जब मारडूम इलाके के माओवादियों ने भी सेरेडर किया है. सरेंडर करने वाले माओवादियों ने सरकार की पुनर्वास नीति से प्रभावित होकर ये कदम उठाया है.

    सरेंडर करने वाले माओवादियों के पास से पुलिस ने आईईडी भी बरामद किया है. ये सभी माओवादी नक्सल संगठन के लिए भोजन उपलब्ध कराना, गांव में मीटिंग बुलाने के अलावा आईईडी लगाने जैसा काम करते थे. सरेंडर करने वाले माओवादियों में दो महिला माओवादी भी शामिल हैं. सबसे खास बात ये हैं कि नक्सल संगठन में रहकर सरकार की नीतियों का विरोध करने वाले माओवादी सरकार की योजनाओं का बखूबी लाभ भी उठा रहे है.

    सरेंडर करने वाले माओवादियों ने बकायदा वोटर आईडी, राशनकार्ड, आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस और बैक में खाता भी खोलकर रखा हुआ है. फिलहाल सभी माओवादियों को सरकार की पॉलिसी के तहत शुरुआत में दस-दस हजार रुपए की आर्थिक सहायता प्रदान की गई है.

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर