अमित जोगी की गिरफ्तारी के बाद पूर्व CM अजीत जोगी ने कहा, यहां कानून नहीं जंगलराज है

News18 Chhattisgarh
Updated: September 3, 2019, 11:37 AM IST
अमित जोगी की गिरफ्तारी के बाद पूर्व CM अजीत जोगी ने कहा, यहां कानून नहीं जंगलराज है
जेसीसी जे प्रदेश अध्यक्ष अमित जोगी की गिरफ्तारी के बाद अजीत जोगी ने कांग्रेस पर एक बड़ा आरोप लगाया है. (File Photo)

अमित जोगी (Amit Jogi) पर चुनाव के दौरान अपनी नागरिकता (Citizenship) को लेकर गलत जानकारी देने का आरोप है.

  • Share this:
छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी (Ajit Jogi) के बेटे अमित जोगी (Amit Jogi) को पुलिस ने हिरास में ले लिया है. जोगी कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अमित जोगी पर चुनाव के दौरान अपनी नागरिकता (Citizenship) को लेकर गलत जानकारी देने का आरोप लगा है. जानकारी के मुताबिक मरवाही (Marvahi) सदन से पुलिस ने जूनियर जोगी को हिरासत में लिया है. मालूम हो कि सोमवार को समीरा पैकरा सहित मरवाही के आदिवासियों ने अमित जोगी की गिरफ्तारी की मांग को लेकर बिलासपुर (Bilaspur) एसपी ऑफिस का घेराव भी किया था. साथ ही अमित जोगी के खिलाफ गौरेला में 420 का मामला सभी दर्ज है. बताया जा रहा है कि अमित जोगी को गौरेला (Gaurella) लाया जा सकता है और पुलिस कोर्ट में पेश भी कर सकती है. वहीं इस पूरे मसले पर जेसीसी जे (JCC J) प्रवक्ता इकबाल अहमद रिजवी का कहना है कि दंतेवाड़ा उपचुनाव में दबाव बनाने के लिए अमीत जोगी की गिरफ्तारी की गई है. कांग्रेस सरकार बदलापुर की राजनीति कर रही है.

हाईप्रोफाइल ड्रामे के बाद हुए गिरफ्तार:

मरवाही के पूर्व विधायक अमित जोगी को पुलिस ने बिलासपुर के सरकारी निवास मरवाही सदन  से गिरफ्तार कर लिया गया है. जानकारी के मुताबिक अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ओपी शर्मा और अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक संजय कुमार ध्रुव के नेतृत्व में मरवाही सदन में मंगलवार सुबह कार्रवाई की. पुलिस टीम ने सरकारी आवास में घुसकर अमित जोगी को गिरफ्तार किया. वहीं अमित जोगी ने खुद को बेकसूर बताते हुए राजनीतिक कार्रवाई की बात कहते गिरफ्तारी दी. गिरफ्तारी के दौरान बड़ी संख्या में पुलिस बल लगाया गया था. पुलिस ने कड़ी सुरक्षा के बीच अमित जोगी को गिरफ्तार किया. जानकारी के मुताबिक गौरेला थाना छावनी में तब्दील हो गया है. मीडिया को थाने परिसर के भीतर जाने से रोका दिया गया है. गौरेला एडिशनल एसपी प्रतिभा पांडे ने मीडिया को थाने में प्रवेश पर प्रतिबंधित लगा दी है. वहीं जोगी समर्थक थाने के बाहर नारेबाजी कर रहे है.

अजीत जोगी ने कही ये बात: 

अमित जोगी की गिरफ्तारी मामले में जेसीसी जे सुप्रीमो अजीत जोगी का कहना है कि छत्तीसगढ़ में कानून का राज नहीं जंगलराज भूपेश बघेल ने कायम कर रखा है. उन्होने कहा कि अमित जोगी के पक्ष में हाई कोर्ट का फैसला पहले ही आ चुका है. यदि भूपेश बघेल की पुलिस उस फैसले के खिलाफ जाकर अमित की गिरफ्तारी कर रही है, तो ये कोर्ट की अवमाना है.

कांग्रेस सरकार (Congress Government) पर आरोप लगाते हुए अजीत जोगी ने कहा कि इससे ये सिद्ध होता है भूपेश बघेल अपने को न्याय पालिका के ऊपर मानते है. बदले की राजनीति छोड़कर भूपेश बघेल को सूबे के गरीबों के विकास और कल्याण के बारे में सोचना चाहिए तथा प्रदेश में व्यप्त अराजकता और भ्रष्टाचार को कम करने के लिए कदम उठाना चाहिए.

अजीत जोगी, बिलासपुर, अजीग जोगी, एफआईआर दर्ज , फर्जी जाति प्रमाणपत्र, Ajit Jogi, Bilaspur, Azig Jogi, FIR lodged, Fake caste certificate
अमित जोगी पर अपनी नागरिकता को लेकर गलत जानकारी देने का आरोप लगा है.

Loading...

पीसीसी चीफ का बयान

अमित जोगी को हिरासत में लिए जाने के मामले में पीसीसी चीफ (PCC Chief) मोहन मरकाम (Mohan Markam) ने कहा कि गलत काम करेंगे तो गिरफ्तार तो होंगे ही. देश में सबके के लिए कानून एक बराबर है. अगर गलतियां की हैं तो सार्वजनिक रूप से माफी मांगें ना की अपने आप को कानून के आड़े लाएं. बीजेपी नेत्री समीरा पैकरा की शिकायत पर पुलिस ने अमित जोगी को गिरफ्तार किया है.



बीजेपी ने कही ये बात:

अमीत जोगी की गिरफ्तारी के मसले पर बीजेपी (BJP) की भी बयान सामने आया है. बीजेपी प्रवक्ता संजय श्रीवास्तव (Sanjay Shrivastava) का कहना है कि पिछले दिनों जिस तरह हाईपावर कमेटी ने रिपोर्ट दी है अजीत जोगी आदिवासी नहीं है. इस देश में कानून है, लोकतंत्र है, उसके तहत कार्रवाई होती है. ये जरूर है कि अमित जोगी को हाईकोर्ट ने राहत दी थी. उनको न्यायालय में अपनी बात रखनी चाहिए.

ये भी पढ़ें:  

पोला पर्व पर सीएम हाउस में सजे नंदी बैल, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने दी बधाई 

पेट्रोल पंप में लूट की कोशिश, नकाबपोश बदमाशों ने कर्मचारी को मारी गोली 

 

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बिलासपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 3, 2019, 11:08 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...