लाइव टीवी

हाईकोर्ट ने दिया कब्र से शव निकालकर पोस्टमार्टम करने का आदेश
Bilaspur News in Hindi

Bhasha
Updated: June 22, 2016, 12:03 PM IST
हाईकोर्ट ने दिया कब्र से शव निकालकर पोस्टमार्टम करने का आदेश
बिलासपुर हाईकोर्ट

छत्तीसगढ़ के बिलासपुर हाईकोर्ट ने राज्य के सुकमा जिले में मारी गई मड़कम हिड़मे के शव को कब्र से निकालकर पोस्टमार्टम करने का आदेश दिया है. कोर्ट ने निर्देशित किया है कि मृतका मड़कम हिड़मे के माता-पिता और वकील की मौजूदगी में शव को कब्र से निकाला जाए. इस प्रक्रिया के दौरान वीडियो रिकॉर्डिंग भी की जाए.

  • Bhasha
  • Last Updated: June 22, 2016, 12:03 PM IST
  • Share this:
छत्तीसगढ़ के बिलासपुर हाईकोर्ट ने राज्य के सुकमा जिले में मारी गई मड़कम हिड़मे के शव को कब्र से निकालकर पोस्टमार्टम करने का आदेश दिया है.

हाईकोर्ट के वकील अमरनाथ पांडेय ने बताया कि छत्तीसगढ़ के बिलासपुर हाईकोर्ट की युगल पीठ में मंगलवार को सुकमा जिले के गोमपाड़ गांव के जंगल में कथित मुठभेड़ में मारी गई आदिवासी युवती मड़कम हिड़मे मामले में दायर जनहित याचिका पर सुनवाई हुई. कोर्ट ने मृतका हिड़मे के शव को कब्र से निकालकर पोस्टमार्टम करने और आगामी सोमवार तक रिपोर्ट प्रस्तुत करने का आदेश दिया है.

पांडेय ने बताया कि मृतका के माता-पिता द्वारा शपथ-पत्र देने के बाद हाईकोर्ट ने व्यवस्था दी है कि जनहित याचिका के स्थान पर इसे परिवार की याचिका मानकर मामले की सुनवाई की जाएगी. वकील ने बताया कि सुकमा जिले के कोंटा थाना के अंतर्गत गोमपाड़ गांव के करीब आठ दिनों पूर्व कथित मुठभेड़ में आदिवासी युवती मड़कम हिड़मे की मौत हो गई थी.



आम आदमी पार्टी के प्रदेश संयोजक संकेत ठाकुर ने याचिका में हिड़मे को निर्दोष बताया है और पूरे मामले की न्यायिक जांच कराने तथा दोषियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की मांग की है.



याचिका में यह भी कहा गया है कि जांच के लिए एसआईटी का गठन किया जाए तथा शव का पोस्टमार्टम कराया जाए जिससे गोमपाड़ मुठभेड़ का सच सामने आ सके. याचिका में मड़कम हिड़मे के परिवार को बीस लाख रुपए मुआवजा देने की मांग भी की गई है.

पांडेय ने बताया कि हाईकोर्ट ने प्रारंभिक सुनवाई के दौरान वहां मौजूद मड़कम हिड़मे के माता-पिता से भी मामले में शपथ पत्र देने के लिए कहा था. वकील पांडेय ने बताया कि हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश दीपक गुप्ता और न्यायमूर्ति संजय के. अग्रवाल की युगल पीठ में मंगलवार को फिर इस मामले की सुनवाई हुई. कोर्ट ने निर्देशित किया है कि मृतका मड़कम हिड़मे के माता-पिता और वकील की मौजूदगी में शव को कब्र से निकाला जाए. इस प्रक्रिया के दौरान वीडियो रिकॉर्डिंग भी की जाए.

हाईकोर्ट ने यह भी निर्देशित किया है कि जगदलपुर हॉस्पिटल के अधीक्षक, फॉरेंसिक टीम, परिवार के सदस्यों और अधिवक्ता के समक्ष विशेषज्ञ डॉक्टरों की टीम से शव का पोस्टमार्टम कराया जाए और पोस्टमार्टम की रिपोर्ट आगामी सोमवार तक हाईकोर्ट में प्रस्तुत की जाए.

पांडेय ने बताया कि मृतका के माता-पिता द्वारा शपथ-पत्र देने के बाद हाईकोर्ट ने यह व्यवस्था भी दी है कि जनहित याचिका के स्थान पर इसे परिवार की याचिका मानकर मामले की सुनवाई की जाएगी.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बिलासपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 22, 2016, 11:40 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading