हाईकोर्ट ने दिए लैब असिस्टेंट भर्ती परीक्षा के अभ्यर्थी की कॉपी दोबारा जांचने के आदेश

छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट ने लैब असिस्टेंट भर्ती परीक्षा में अभ्यर्थी की उत्तर पुस्तिका दोबारा जांचने के आदेश दिए हैं.चिकित्सा महाविद्यालय राजनांदगांव पर गलत मूल्यांकन का आरोप लगा परीक्षार्थी देवेन्द्र कुमार कि रिट याचिका दायर की थी.

Pankaj Gupte
Updated: April 17, 2018, 10:36 PM IST
हाईकोर्ट ने दिए लैब असिस्टेंट भर्ती परीक्षा के अभ्यर्थी की कॉपी दोबारा जांचने के आदेश
छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट, बिलासपुर
Pankaj Gupte
Updated: April 17, 2018, 10:36 PM IST
छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट बिलासपुर ने लैब असिस्टेंट भर्ती परीक्षा में अभ्यर्थी की उत्तर पुस्तिका दोबारा जांचने के आदेश दिए हैं.शासकीय चिकित्सा महाविद्यालय राजनांदगांव पर गलत मूल्यांकन का आरोप लगा परीक्षार्थी देवेन्द्र कुमार कि रिट याचिका दायर की थी. हाईकोर्ट ने डीन,चिकित्सा महाविद्यालय राजनांदगांव को निर्देश दिया है कि वह देवेन्द्र के ओएमआर उत्तर पुस्तिका और मॉडल आंसर का पुनः मिलान करें और अधिक अंक मिलने पर उसको तत्काल लैब असिस्टेंट के रिक्त पद में नियुक्त करें.

डीन, शासकीय चिकित्सा महाविद्यालय राजनांदगांव ने 2014 अपने यहां लैब असिस्टेंट के रिक्त पद के लिए भर्ती परीक्षा आयोजित की थी. परीक्षा में कुल 45प्रश्न पूछे गए थे.इसमें प्रत्येक प्रश्न पर दो अंक निर्धारित थे.याचिकाकर्ता के अधिवक्ता के अनुसार याचिकाकर्ता को परीक्षा उपरांत ओएमआर कि कार्बन कॉपी दी गई थी. उक्त परीक्षा के ओएमआर कॉपी का मॉडल आंसर सीट से परीक्षार्थी ने मिलान किया. उसे 72 अंक मिलना पाया गया पर परीक्षा नियंत्रक ने गलत जांच कर परीक्षार्थी को केवल 50 अंक देकर उसे फेल कर दिया.








IBN Khabar, IBN7 और ETV News अब है News18 Hindi. सबसे सटीक और सबसे तेज़ Hindi News अपडेट्स. Chhattisgarh News in Hindi यहां देखें.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर