अपना शहर चुनें

States

छत्तीसगढ़: नान घोटाला मामले की हाईकोर्ट में होगी नॉन स्टॉप सुनवाई

हाईकोर्ट ने राज्य शासन को 4 सप्ताह में जवाब पेश करने कहा है.
(फाइल फोटो)
हाईकोर्ट ने राज्य शासन को 4 सप्ताह में जवाब पेश करने कहा है. (फाइल फोटो)

हाईकोर्ट ने कहा है कि मामले से संबंधित याचिकाकर्ता जो भी दस्तावेज सबमिट करना चाहे 14 अगस्त तक कर दें.

  • Share this:
छत्तीसगढ़ के बहुचर्चित नान घोटाले मामले को लेकर हाईकोर्ट ने एक बड़ा फैसला दिया है. अब इस हाईप्रोफाइल मामले की कोर्ट में नान स्टॉप सुनवाई होगी. मिली जानकारी के मुताबिक डे-टू-डे 26 अगस्त से 2 सितंबर तक सीजे के डिवीजन बैंच में इस मामले की सुनवाई होगी.  इसके साथ ही हाईकोर्ट ने कहा है कि मामले से संबंधित याचिकाकर्ता जो भी दस्तावेज सबमिट करना चाहे 14 अगस्त तक कर दें. मालूम हो कि छत्तीसगढ़ में नागरिक आपूर्ति निगम (नान) में करोड़ों का हुआ था घोटाला. इस मामले को लेकर हमर संगवारी NGO, अधिवक्ता सुदीप श्रीवास्तव, वीरेंद्र पाण्डे और अन्य ने हाईकोर्ट में जनहित याचिका लगाई थी. हाईकोर्ट चीफ जस्टिस के डिवीजन बैंच में ये मामला लगा था.

 

क्या है नान घोटाला?



आरोप है कि छत्तीसगढ़ में राइस मिलरों से लाखों क्विंटल घटिया चावल लिया गया और इसके बदले करोड़ों रुपये की रिश्वतखोरी की गई. इसी तरह नागरिक आपूर्ति निगम के ट्रांसपोर्टेशन में भी भारी घोटाला किया गया. इस मामले में 27 लोगों के ख़िलाफ़ मामला दर्ज़ किया गया था. जिनमें से 16 के ख़िलाफ़ 15 जून 2015 को अभियोग पत्र पेश किया गया था. जबकि मामले में दो वरिष्ठ आईएएस अधिकारी डॉ. आलोक शुक्ला और अनिल टूटेजा के ख़िलाफ़ कार्रवाई की अनुमति के लिये केन्द्र सरकार को चिट्ठी लिखी गई.
ये भी पढ़ें: 

बेमेतरा से लापता बच्चियां रायपुर में मिली, पुलिस जल्द करेगी मामले का खुलासा 

एडसमेंट्टा मुठभेड़ की जांच करने CBI की टीम पहुंची बीजापुर, दर्ज कर सकती है बयान

 

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज