Home /News /chhattisgarh /

कवर्धा राजपरिवार में चर्चित हत्याकांड की जांच करेगी CBI, हाई कोर्ट ने दिए आदेश

कवर्धा राजपरिवार में चर्चित हत्याकांड की जांच करेगी CBI, हाई कोर्ट ने दिए आदेश

छत्तीसगढ़ हाई कोर्ट ने सीबीआई को राजपरिवार के सदस्य की हत्या की जांच का आदेश दिया है.

छत्तीसगढ़ हाई कोर्ट ने सीबीआई को राजपरिवार के सदस्य की हत्या की जांच का आदेश दिया है.

Chhattisgarh News: छत्तीसगढ़ की बिलासपुर हाई कोर्ट ने कवर्धा राजपरिवार के सदस्य की हत्या के मामले की जांच सीबीआई को करने के आदेश दिए हैं. हाई कोर्ट की जस्टिस रजनी दुबे की कोर्ट ने आदेश में कहा है कि सीबीआई संदिग्धों के मोबाइल फोन और सिम जब्त करे और साक्ष्य जुटाए. अगस्त 2021 में राजपरिवार के सदस्य विश्वनाथ नायर की हत्या की गई थी. पुलिस ने अपनी जांच में मामूली चोरी की नीयत से पहुंचे लोगों द्वारा हत्या की वारदात को अंजाम देना बताया था.

अधिक पढ़ें ...

बिलासपुर. छत्तीसगढ़ के कवर्धा राजपरिवार के सदस्य की हत्या मामले की जांच केन्द्रीय जांच एजेंसी सीबीआई को सौंप दी गई है. बिलासपुर हाई कोर्ट ने राजमाता शशि प्रभा की संपत्ति विवाद मामले और राजमाता के भतीजे विश्वनाथ नायर की हत्या मामले की जांच सीबीआई को करने के आदेश दिए हैं. अगस्त  2021 में विश्वनाथ नायर की हत्या कवर्धा में ही राजपरिवार के फार्म हाउस में कर दी गई थी. मामले में दायर याचिका पर हाई कोर्ट ने सीबीआई जांच करने का आदेश दिया है. हाई कोर्ट ने अपने आदेश में कहा है कि CBI साक्ष्यों और सबूतों को संग्रहित करे. साथ ही संदिग्धों के मोबाइल और सिम को भी जब्त करे.

बताया जा रहा है कि राजकीय सम्पत्ति का लंबे समय से चल रहे विवाद के बीच राजमाता के भतीजे की हत्या हुई थी. इस चर्चित हत्याकांड की सही जांच नहीं किए जाने का आरोप लगाते हुए राजपरिवार की ही सदस्य ज्योति नायर ने हाई कोर्ट में याचिका दायर की थी. बिलासपुर हाई कोर्ट में जस्टिस रजनी दुबे के सिंगल बेंच में मामला लगा था. जस्टिस दुबे ने मामले में सीबीआई जांच के आदेश दे दिए हैं. हालांकि पुलिस इस मामले का पहले ही खुलासा कर चुकी है. पुलिस ने अपनी जांच के बाद आरोपियों को गिरफ्तार करने का दावा भी किया था.

खून से लथपथ मिली थी लाश
बता दें कि कवर्धा जिले के पिपरिया थाना अंतर्गत ग्राम इंदौरी और कोसमंदा के बीच राजपरिवार का पुश्तैनी कृषि फार्म हाउस है. खेती-बाड़ी की देखरेख करने वाले राजमाता के भतीजे विश्वनाथ नायर का शव यहीं पड़ा मिला था. पुलिस की जांच के मुताबिक घटना की सुबह खेती बाड़ी के कार्य के लिए मजदूर फार्महाउस पहुंचे तो बाहर का गेट बंद था. मजदूरों ने कमरे में जाकर देखा तो विश्वनाथ नायर का शव खून से लथपथ पड़ा था. उन्होंने पुलिस को सूचना दी. पुलिस ने मामले में कुछ दिन बाद ही खुलासा किया. पुलिस का दावा था कि पांच लोगों ने मिलकर हत्या की वारदात को अंजाम दिया है.

पुलिस रिपोर्ट के मुताबिक एक आरोपी प्रेमलाल के अलावा चार अन्य नाबालिग हैं, जो कि पास के ही गांव के रहने वाले हैं. वे चोरी की नीयत से आए थे, शोरगुल की आवाज से विश्वनाथ की नींद खुल गई थी. जिससे बचने के लिए आरोपियों ने रॉड से सिर पर ताबड़तोड़ वार करके उसकी हत्या कर दी थी. इसके बाद घर में रखे राहर की बारिया, सोने की चैन, मोबाइल, नगद पैसे, एटीएम कार्ड और सबमर्सिबल पंप लेकर भाग गए थे. पुलिस के इस दावे पर ज्योति नायर को भरोसा नहीं हुआ और उन्होंने नए सिरे से जांच के लिए हाई कोर्ट में याचिका दायर की थी.

Tags: CBI, Chhattisgarh High court

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर