लाइव टीवी

समय से पहले खत्म हुआ विधानसभा, 6 बैठकों में 30 घंटे हुई चर्चा, अगले महीने होगा बजट सत्र

Awadhesh Mishra | News18 Chhattisgarh
Updated: December 2, 2019, 6:12 PM IST
समय से पहले खत्म हुआ विधानसभा, 6 बैठकों में 30 घंटे हुई चर्चा, अगले महीने होगा बजट सत्र
राष्ट्रीयकृत बैंक के कर्जा माफी को लेकर सदन में दोनों पक्षों के भी नोंकझोक हुई. (File Photo)

समय से पहले सत्र खत्म कर दिया गया है. जानकारी के मुताबिक अब फरवरी माह के अंतिम सप्ताह में बजट सत्र (Budget Session) होगा.

  • Share this:
रायपुर. छत्तीसगढ़ विधानसभा (Chhattisgarh Assembly) के शीतकालीन सत्र (Winter Session) सोमवार को समाप्त हो गया. अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत (Dr. Charandas Mahant) ने सत्रावसान की घोषणा की. माना जा रहा है कि निकाय चुनाव की घोषणा की वजह से सभी दल ने सत्रावसान पर सहमति दी थी. इसके बाद अनिश्चितकाल के लिए सत्र स्थगित कर दिया गया. मालूम हो कि शीतकालीन सत्र के दौरान कुल 6 बैठकों में तकरीबन 30 घंटों तक चर्चा हुआ. अब समय से पहले सत्र खत्म कर दिया गया है. जानकारी के मुताबिक अब फरवरी माह के अंतिम सप्ताह में बजट सत्र होगा. इस दौरान बजट पर चर्चा होगी.

आखिरी दिन गूंजे ये मुद्दे

सत्र के आंतिम दिन अवैध शराब बिक्री के मुद्दे पर सदन में अवैध शराब बिक्री मामले में जमकर हंगामा हुआ. इस मसले पर विपक्ष ने जोरदार हंगामा किया. नारेबाजी करते हुए विपक्ष के सदस्य गर्भगृह तक पहुंच गए थे जिसकी वजह से आसंदी ने सभी को निलंबित कर दिया था. तो वहीं शिक्षकों की कमी के मुद्दे पर सत्तापक्ष के ही विधायक ने अपनी ही सरकार को घेरा. बस्तर विधायक लखेश्वर बघेल ने कहा कि हमारी बात सरकार में नहीं सुनी जा रही है. शिक्षकों की कमी से कई बार अवगत कराया गया है. केवल आश्वासन ही दिया जाता है. कार्रवाई नहीं की जा रही है.

जल्द बनेगा ये कानून

सदन में सिंगल यूज प्लास्टिक का मुद्दा भी उठा. अजीत जोगी ने प्लास्टिक से नुकसान और सराकर के कदम की जानकार मांगी. विधानसभा अध्यक्ष ने प्लास्टिक के जैविक उपयोग और डिस्पोजेबल प्लान लगाने उद्योगों को आमंत्रित करने के निर्देश दिए. सरकार ने जल्द नियम कानून बनाने और उद्योग को आमंत्रित करने की जानकारी सदन में दी. किसानों के कर्जमाफी के मामले में भी सदन में जमकर हंगामा हुआ.  राष्ट्रीयकृत बैंक के कर्जा माफी को लेकर सदन में दोनों पक्षों के भी नोंकझोक हुई.

सरकेगुड़ा जांच रिपोर्ट पर हंगामा

सरकेगुड़ा जांच रिपोर्ट लीक होने पर कार्रवाई की मांग पर विपक्ष अड़ा रहा. इस मसले पर विपक्ष ने सदन में जोरदार हंगामा किया और सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की. शून्यकाल में भी सदन में  सरकेगुड़ा न्याययिक जांच रिपोर्ट लीक होने का मामला विपक्ष ने उठाया. केशव चंद्रा ने पुलिस अभिरक्षा में आरोपी से मारपीट का मुद्दा उठाया. धान खरीदी से ठीक पहले पंजीयक विभाग में तबादले का भी मुद्दा सदन में उठा. 

चुने गए उपाध्यक्ष, ये विधेयक पारित, इन पर मिली मंजूरी

सदन के आखिरी दिन मनोज मंडावी निर्विरोध विधानसभा उपाध्यक्ष चुने गए. मनोज मंडावी को उपाध्यक्ष बनाने कुल 9 सदस्यों ने प्रस्ताव पेश किया. पक्ष-विपक्ष के प्रस्ताव और समर्थन प्रस्ताव सदन में मंजूर किए गए. मालूम हो कि मनोज मंडावी बस्तर संभाग के भानुप्रतापपुर से कांग्रेस विधायक हैं. तो वहीं विश्विद्यालय संसोधन विधेयक 2019 सर्वसम्मति से परित किया गया. साथ ही रायपुर में महात्मा गांधी उद्यानिकी एवं वानिकी विश्विद्यालय खोलने की मिली मंजूरी मिल गई है.

ये भी पढ़ें: 

हत्या के बाद पत्थर से कुचला चेहरा, फिर जला दी मां और बच्चे की लाश 

सदन में उठा नान घोटाला मामला, CM भूपेश बघेल और रमन सिंह के बीच तीखी नोकझोंक

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बिलासपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 2, 2019, 6:11 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर