मदनवाड़ा नक्सली हमले की 10 साल बाद न्यायिक जांच के आदेश, CM भूपेश बघेल ने किया ऐलान

जुलाई 2009 में हुई इस नक्सल हिंसा में एसपी विनोद कुमार चौबे (SP Vinod Kumar Chaubey) सहित पुलिस के 29 जवान शहीद हो गए थे.

Sanjay Manikpuri | News18 Chhattisgarh
Updated: September 8, 2019, 12:15 PM IST
मदनवाड़ा नक्सली हमले की 10 साल बाद न्यायिक जांच के आदेश, CM भूपेश बघेल ने किया ऐलान
छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव जिले के मदनवाड़ा में हुए नक्सल नरंसहार मामले के दस साल बाद अब न्यायिक जांच के आदेश दिए गए हैं.
Sanjay Manikpuri | News18 Chhattisgarh
Updated: September 8, 2019, 12:15 PM IST
बिलासपुर: छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के राजनांदगांव (Rajnandgaon) जिले के मदनवाड़ा में हुए नक्सल (Naxal) नरंसहार मामले के दस साल बाद अब न्यायिक जांच के आदेश दिए गए हैं. जुलाई 2009 में हुई इस नक्सल हिंसा में एसपी विनोद कुमार चौबे (SP Vinod Kumar Chaubey) सहित पुलिस के 29 जवान शहीद हो गए थे. इस मामले में अब न्यायिक जांच के बादेश सीएम भूपेश बघेल (CM Bhupesh Baghel) ने दिए हैं. इसके लिए हाई कोर्ट के रिटायर्ड जस्टिस की अध्यक्षता जांच टीम बनाने का ऐलान बिलासपुर में किया है. कांग्रेस नेता अटल श्रीवास्तव व शहीद विनोद चौबे की पत्नी के आवेदन पर न्यायिक जांच के आदेश दिए गए हैं.

बिलासपुर (Bilaspur) के सिविल लाइन में बीते शनिवार को सीएम भूपेश बघेल (Bhupesh Baghel) आईपीएस विनोद कुमार चौबे की प्रतिमा अनावरण करने पहुंचे थे. इसी दौरान सीएम भूपेश बघेल ने कहा कि हमारे 29 जवान और अधिकारी शहीद हो गए और हम जांच भी नहीं करा पाए. जब आईपीएस चौबे के शहीद होने की खबर आई तो मैं खुद घटना स्थल पर दो बार गया. जानकारी मिली कि हमले की सूचना के बाद भी कोई बैकअप पार्टी नहीं पहुंची थी. जबकि घटना स्थल तीन प्रमुख सेंटरों के बीच में था.

Chhattisgarh, Vinod Chaubey
बिलासपुर में शहीद विनोद चौबे की प्रतिमा का अनावरण किया गया.


अफसरों की भूमिका पर सवाल

बता दें कि 12 जुलाई 2009 को राजनांदगांव के मदनवाड़ा में नक्सली हमला हुआ था. उस वक्त विनोद कुमार चौबे राजनांदगांव एसपी और मुकेश गुप्ता आईजी थे. नक्सलियों के दो जवानों को गोली मारने की सूचना पर एसपी चौबे जवानों के साथ निकल पड़े. मदनवाड़ा के पास नक्सलियों ने पहले बारुदी सुरंग विस्फोट किया फिर उन पर गोलियों की बौछार कर दी थीत्र इस घटना में अफसरों की भूमिका को लेकर सवाल उठते रहे हैं. राजनांदगांव जिले में ये अब तक की सबसे बड़ी नक्सली वारदाता थी. इसी मामले में अब नए सिरे जांच के आदेश दिए गए हैं.

ये भी पढ़ें: MBBS में एडमिशन का गिरोह भिलाई में सक्रिय, एक से 20 लाख ठगे, जांच में जुटी पुलिस 

ये भी पढ़ें: साढ़े 7 करोड़ रुपये की लालच में अंतागढ़ उपचुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी ने छोड़ा था मैदान 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बिलासपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 8, 2019, 12:15 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...