Home /News /chhattisgarh /

अंतागढ़ टेपकांड : एसआईटी जांच के लिए हाईकोर्ट पहुंची कांग्रेस, बताया आपराधिक षडयंत्र

अंतागढ़ टेपकांड : एसआईटी जांच के लिए हाईकोर्ट पहुंची कांग्रेस, बताया आपराधिक षडयंत्र

छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस अब अंतागढ़ टेपकांड मामले की उच्च स्तरीय जांच कराए जाने की मांग को लेकर हाईकोर्ट पहुंच गई है. कांग्रेस ने इसके लिए हाईकोर्ट में एक याचिका भी दायर कर दी है.

छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस अब अंतागढ़ टेपकांड मामले की उच्च स्तरीय जांच कराए जाने की मांग को लेकर हाईकोर्ट पहुंच गई है. कांग्रेस ने इसके लिए हाईकोर्ट में एक याचिका भी दायर कर दी है.

छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस अब अंतागढ़ टेपकांड मामले की उच्च स्तरीय जांच कराए जाने की मांग को लेकर हाईकोर्ट पहुंच गई है. कांग्रेस ने इसके लिए हाईकोर्ट में एक याचिका भी दायर कर दी है.

छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस अब अंतागढ़ टेपकांड मामले की उच्च स्तरीय जांच कराए जाने की मांग को लेकर हाईकोर्ट पहुंच गई है. कांग्रेस ने इसके लिए हाईकोर्ट में एक याचिका भी दायर कर दी है.

कांग्रेस ने अपनी याचिका में अंतागढ़ उपचुनाव को प्रभावित करने के लिए हुए कथित आपराधिक षडयंत्र के मामले में कोर्ट की निगरानी में एसआईटी का गठन कर उच्च स्तरीय जांच कराए जाने की मांग की है.

वकील सतीश चंद्र वर्मा ने मंगलवार को बिलासपुर में बताया कि अंतागढ़ उपचुनाव में खरीद-फरोख्त और टेपकांड मामले में कांग्रेस की ओर से याचिका दायर करने के लिए प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल हाईकोर्ट पहुंचे थे. मामले में पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी और उनके विधायक बेटे अमित जोगी तथा छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह के दामाद पुनीत गुप्ता का नाम सामने आया था.

वकील वर्मा ने बताया कि वर्ष 2014 में राज्य के अंतागढ़ उपचुनाव में मंतूराम पंवार कांग्रेस की तरफ से अधिकृत प्रत्याशी बनाए गए थे. मंतूराम पवार ने नामांकन दाखिल करने के बावजूद पार्टी को सूचना दिए बगैर ऐन वक्त पर विधायक का चुनाव लड़ने से मना करते हुए अपना नाम वापस ले लिया था. इसके परिणामस्वरूप भाजपा को भारी मतों से विजय हासिल हुई थी.

उपचुनाव के बाद जारी एक टेप से छत्तीसगढ़ की राजनीति में भूचाल आ गया था. टेप में मुख्यमंत्री रमन सिंह के दामाद पुनीत गुप्ता, पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी तथा उनके बेटे और मरवाही विधायक अमित जोगी के बीच अंतागढ़ उपचुनाव के प्रत्याशी मंतूराम पंवार की कथित तौर पर सौदेबाजी की बातें सामने आई थी.

वकील सतीश चंद्र वर्मा ने बताया कि याचिका में कांग्रेस ने मांग की गई है कि अंतागढ़ उपचुनाव खरीद-फरोख्त मामले की निष्पक्ष जांच होनी चाहिए, जिससे सारा सच सामने आ सके. याचिका में कहा गया है कि इस हाईप्रोफाइल मामले में वर्तमान और पूर्व मुख्यमंत्री तथा उनके दामाद और पुत्र की संलिप्तता स्पष्ट है, इसलिए हाईकोर्ट की निगरानी में एसआईटी का गठन कर उच्च स्तरीय जांच की जाए.

Tags: Bhupesh Baghel, Congress

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर