• Home
  • »
  • News
  • »
  • chhattisgarh
  • »
  • जन औषधि केंद्रों से नदारद हुई दवाइयां, महीने भर में लग सकता है ताला

जन औषधि केंद्रों से नदारद हुई दवाइयां, महीने भर में लग सकता है ताला

जन औषधि केंद्रों से नदारद हुई दवाइयां, महीने भर में लग सकता है ताला

जन औषधि केंद्रों से नदारद हुई दवाइयां, महीने भर में लग सकता है ताला

जनता को कम दर पर जेनेरिक दवाएं उपलब्ध कराने के लिए जिले में प्रधानमंत्री जन औषधि केंद्र की 8 दुकानें खोली गई थी, लेकिन इन केंद्रों में दवाओं का स्टॉक खत्म हो गया है.

  • Share this:
छत्तीसगढ़ के बिलासपुर जिले में जनता को कम दर पर जेनेरिक दवाएं उपलब्ध कराने के लिए जिले में प्रधानमंत्री जन औषधि केंद्र की 8 दुकानें खोली गई थी, लेकिन इन केंद्रों में दवाओं का स्टॉक खत्म हो गया है.

ऐसा कहा गया था कि डॉक्टर मरीजों को सिर्फ जेनेरिक दवाएं ही लिखेंगे और ये दवाएं आसानी से जन औषधि केंद्रों में मिल जाएगी. बता दें कि पूरे प्रदेश में 162 जन औषधि केंद्र खोले गए थे, जिनमें 732 दवाओं की उपलब्धता रहेगी. इस दौरान जो दवाएं मार्केट में ब्रांडेड होने के कारण मरीजों को उन्हें खरीदने में दिक्कत होती थी वो इन जन औषधि केंद्रों में आधे से कम कीमत में मिलने की योजना थी. हालांकि जन औषधि केंद्रों की हालत ऐसी हो गई है जैसे उसे उन्हें खुद इलाज की जरूरत हो. वह वेंटिलेटर में पड़े अपने अंतिम सांसें गिन रहा हो.

बहरहाल, अब इन केंद्रों में कुछ गिने चुने दवाइयां और चॉकलेट के डिब्बे ही दिखाई पड़ते हैं. हालात ऐसे है कि कुछ ही महीनों के अंदर इन केंद्रों में ताला लगाने की नौबत आ जाएगी. ऐसे में प्रधानमंत्री जन औषधि केंद्र जिन उद्देश्य के लिए खोला गया था, उस पर कई सवाल खड़े हो गए हैं. फिलहाल, ये पूरा मामला जांच का विषय है.

दरअसल, जन औषधि केंद्र रेडक्रॉस के अधीनस्थ है. रेडक्रॉस के प्रभारी आदित्य पांडेय ने बताया कि जन औषधि की दवा राज्यों के लिए केंद्र से आती थी. दवाओं के स्टॉक खत्म होने के बाद कई बार स्टॉक के लिए अप्लाई किया गया, लेकिन महीने भर से ऊपर हो गया और अब तक स्टॉक नहीं आया. इसलिए यहां के हालात बदतर हो गए हैं.

वहीं सिम्स और अन्य अस्पतालों में इलाज करा रहे मरीजों के परिजनों ने प्रधानमंत्री जन औषधि केंद्रों को गरीबों के लिए वरदान माना है. उनका कहना है कि जो दवाएं बड़े दवा दुकानों में 100 रुपए में मिलती है, वही दवाएं जन औषधि केंद्र में 23 रुपए या 30 रुपए तक आसानी से मिल जाती है. हालांकि अभी जन औषधि केंद्र के बंद होने के हालात बन गए हैं, जिससे गरीब मरीज चिंतत हैं.

ये भी पढ़ें:- सीएम डॉ. रमन सिंह के खिलाफ आचार संहिता के उल्लंघन की याचिका खारिज

18 के फेर में उलझी कांग्रेस, प्रत्याशी तय करने में करनी पड़ रही मशक्कत

 

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज