बिलासपुर यूनिवर्सिटी से लापता गोल्ड मेडलिस्ट छात्रा झांसी में मिली, मोबाइल लोकेशन ने बताया पता
Bilaspur News in Hindi

बिलासपुर यूनिवर्सिटी से लापता गोल्ड मेडलिस्ट छात्रा झांसी में मिली, मोबाइल लोकेशन ने बताया पता
बिलासपुर में पुलिस ने छात्रा का बयान भी दर्ज किया है.

बिलासपुर से पुलिस की एक टीम रवाना हुई और झांसी से छात्रा को बरामद किया. फिलहाल पुलिस ने छात्रा का बयान दर्ज कर परिजनों के सुपुर्द कर दिया है.

  • Share this:
बिलासपुर. छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के बिलासपुर (Bilaspur) जिले से लापता छात्रा (Missing Student) को खोज निकालने में पुलिस को सफलता मिल गई है. लापता होने के तकरीबन 48 घंटे बाद पुलिस ने गुरु घासीदास केंद्रीय विश्वविद्यालय (Guru Ghasidas Central University) की गोल्ड मेडलिस्ट (Gold Medalist) छात्रा को झांसी रेलवे स्टेशन (Jhansi Railway Station) से बरामद कर लिया है. दरअसल, छात्रा दीक्षांत समारोह (Convocation) के रिहर्सल में शामिल होने के बाद यूनिवर्सिटी से घर के लिए निकली थी, लेकिन पहुंची नहीं. फिर परिजनों ने गुमशुदगी की शिकायत थाने में की. मामला दर्ज कर पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी. फिर मोबाइल लोकेशन (Mobile Location) से पुलिस को छात्रा का लोकेशन मिला. फिर बिलासपुर से पुलिस की एक टीम रवाना हुई और झांसी से छात्रा को बरामद किया. फिलहाल पुलिस ने छात्रा का बयान दर्ज कर परिजनों के सुपुर्द कर दिया है.

ये है पूरा मामला

गुरु घासीदास केंद्रीय विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह के रिहर्सल के बाद से लापता हुई गोल्ड मेडलिस्ट छात्रा रामेश्वरी राव को पुलिस 48 घंटे के अंदर सकुशल बिलासपुर ले आई है. दरअसल, गोल्ड मेडलिस्ट रामेश्वरी राव शनिवार को दीक्षांत समारोह के फाइनल रिहर्सल के बाद सेंट्रल यूनिवर्सिटी से घर के लिए निकली थी. नेहरू चौंक के पास छात्रा ने अपने परिजनों से मोबाइल पर बातचीत कर शाम 5:30 बजे तक घर पहुंचने की बात कही थी. छात्रा के देर शाम तक घर नही पहुंचने और मोबाइल फोन बंद होने पर परेशान परिजनों ने खोजबीन शुरू की.



छात्रा की जानकारी नहीं लगने पर परिजनों ने सिविल लाइन थाना में गुमशुदगी की शिकायत दर्ज कराते हुए अपहरण की आशंका जाहिर की. परिजनों ने पुलिस को बताया कि सोमवार को सेंट्रल यूनिवर्सिटी के 8वें दीक्षांत समारोह में लापता छात्रा को गोल्ड मेडल मिलना है. इस समारोह में देश के राष्ट्रपति शामिल हो रहे हैं. लापता छात्रा को खोजने के लिए ट्विटर पर गृहमंत्री, पुलिस और आमजन से सहयोग की अपील की गई. पुलिस ने मामले की शिकायत के बाद टीम बनाकर लापता छात्रा की तलाश शुरू कर दी.



मोबाइल लोकेशन से पुलिस ने छात्रा को खोज निकाला.


मोबाइल लोकेशन ने बताया पता

वहीं, साइबर सेल को मामले में लगाया गया. छात्रा का मोबाइल चालू होते ही साइबर सेल की टीम ने लोकेशन के आधार पर आरपीएफ और जीआरपी को छात्रा की झांसी रेलवे स्टेशन में होने की जानकारी दी. सूचना पर आरपीएफ और जीआरपी  की टीम ने फौरन छात्रा को अपने कब्जे में लिया बिलासपुर पुलिस को सूचना दी.  पुलिस ने छात्रा के मिलने की सूचना पर परिजनों के साथ झांसी के लिए रवाना हो गई जहां से उसे सोमवार को देर रात बिलासपुर लाया गया. मंगलवार को पुलिस ने छात्रा का बयान दर्ज कर परिजनों के सुपुर्द कर दिया. हालांकि लापता गोल्ड मेडलिस्ट छात्रा दीक्षांत समारोह में नहीं पहुंच सकी. सिविल लाइन थाना प्रभारी परिवेश तिवारी ने बताया की छात्रा काफी डिप्रेशन में थी. इस वजह से उसने यह कदम उठाया है.

 

 

ये भी पढ़े: 

भूपेश सरकार के दूसरे बजट से नाखुश सरकारी कर्मचारी, लगा 'नजरअंदाज' करने का आरोप 

 

CM भूपेश बघेल ने किया संविलियन का ऐलान, क्या अब मिलेगी 'शिक्षाकर्मी' शब्द से मुक्ति?

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading